Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Exclusive Interview : झूठे विपक्षी गठबंधन के गुब्बारे की जनता निकालेगी हवा, एनडीए को मिलेगा प्रचंड बहुमत

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय विज्ञान, प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ़ हर्षवर्धन ने देश में जारी लोकसभा चुनावों की सरगर्मी के बीच शनिवार को हरिभूमि को दिए विशेष साक्षात्कार में कही।

Exclusive Interview : झूठे विपक्षी गठबंधन के गुब्बारे की जनता निकालेगी हवा, एनडीए को मिलेगा प्रचंड बहुमत
देश में होने वाले आगामी लोकसभा चुनावों में एनडीए फिर से बहुमत के प्रचंड आंकड़े के साथ सत्ता में वापसी करेगा और उसके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही होंगे। सपा, बसपा, कांग्रेस, आम आदमी पार्टी या ऐसी अन्य कोई भी पार्टी चाहे कितने भी गठबंधन या झूठे गठजोड़ बना लें। शत-प्रतिशत जीत मौजूदा सत्तासीन सरकार की ही होगी। 23 मई को समूचे विपक्ष को इस बात का साक्षात प्रमाण भी मिल जाएगा कि इस बार उनकी 2014 से भी बड़ी हार हो चुकी है। यह बातें भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय विज्ञान, प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ़ हर्षवर्धन ने देश में जारी लोकसभा चुनावों की सरगर्मी के बीच शनिवार को हरिभूमि को दिए विशेष साक्षात्कार में कही।

पेश है बातचीत के मुख्य अंश-

प्रश्न- आने वाले लोस चुनावों को लेकर यह बातें सुनने को मिल रही हैं कि इस बार आपको चांदनी चौक के बजाय पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ाया जाएगा। इसमें कितनी सच्चाई है, आप कहां से चुनाव लड़ेंगे?
उत्तर- मुझे नहीं पता कि ये चर्चा कहां से चल रही है, कौन चला रह है? लेकिन मेरी पार्टी ने पिछली बार मुझे चांदनी चौक से चुनाव लड़ने के लिए कहा था और पांच साल मैंने चांदनी चौक के अंदर काफी काम भी किया। यहां के लोगों से भी मुझे उतनी ही मोहब्बत हो गई है। जितनी बाकी दिल्ली के लोगों से है। यहां के कार्यकर्ताओं से भी मुझे काफी लगाव है। ऐसे में मेरे विश्लेषण में मुझे कोई कारण समझ में नहीं आता कि मैं किसी दूसरे स्थान पर जाकर चुनाव लडूंगा।
प्रश्न- भाजपा के खिलाफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इस पर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?
उत्तर- सारी दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी और कांग्रेस की हकीकत को अच्छी तरह से जानती और समझती है। सवाल जहां तक मौजूदा वक्त में दोनों के गठबंधन को लेकर चल रही राजनीतिक सरगर्मी को लेकर है, तो इसमें मुझे लगता है कि यह परिस्थितियां भाजपा के लिए किसी बेहतरीन तोहफे से कम नहीं होगी। क्योंकि इन दोनों को मिलकर हराने में जो मजा हमें आएगा। वो अलग-अलग हराने में नहीं आता। कांग्रेस के लिए मैं भविष्यवाणी करता हूं कि अगर वो आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी। तो उसकी स्थिति जो बीते कुछ दशकों से बिहार और यूपी में बनी हुई है। वो स्थिति उसके हमेशा के भविष्य के तौर पर दिल्ली के अंदर बन जाएगी। जहां तक आप का सवाल है, तो अरविंद केजरीवाल की हताशा तो हमें दिन-रात देखने को मिल रही है। वो दिल्ली के मुख्यमंत्री होकर कांग्रेस पार्टी के सामने गिड़गिड़ा रहे हैं। क्योंकि उन्हें लगता है कि इसके अलावा और कोई चारा अब उनके पास नहीं बचा है। 67 सीटें दिल्ली में हैं और इन्हें लगता है कि सभी पर हारने की इनकी तैयारी है, सारी दिल्ली ने भी इसका मन बना लिया है। ऐसे में इन्हें लग रहा है कि अगर ये कांग्रेस से मिल जाएंगे तो शायद इनका कुछ भला हो जाएगा।
प्रश्न- हालिया हुए विधानसभा चुनावों में छत्तीसगढ़, मध्य-प्रदेश, राजस्थान में भाजपा हारी, कांग्रेस जीती। सभी जगहों पर कांग्रेस की सरकारें अच्छा काम भी कर रही हैं। ऐसे में भाजपा लोकसभा चुनावों में कैसे जनता का फिर से विश्वास हासिल करेगी?
उत्तर- मुझे कोई संदेह नहीं कि इन तीनों राज्यों में भाजपा के 2014 लोस चुनावों से भी बेहतर नतीजे आएंगे। हमें किसी नई रणनीति की जरूरत नहीं है। हमारे प्रधानमंत्री जी ने पूरे देश में बहुत काम किया है और तीनों राज्यों में भी हमारी भाजपा की सरकारों ने भी अच्छा काम किया था। यहां चुनाव का गणित और रिजल्ट देखने पर साफ हो जाता है कि भले ही सरकार दो-चार सीटें कम हो जाने से भाजपा की न बनी हो। लेकिन वोट के हिसाब से कांग्रेस पार्टी से ज्यादा लोगों ने भाजपा को समर्थन किया है। इसलिए मुझे जरा भी संदेह नहीं है कि इन राज्यों में भाजपा को कोई दिक्कत आएगी। मेरे हिसाब से इन जगहों पर कांग्रेस की सरकारें अच्छा काम नहीं कर रही हैं। बल्कि रोजाना उनकी हकीकत सामने आ रही है। लोग देख रहे हैं कि झूठे वादे किए, न किसानों की मदद की, न कोई दूसरे बड़े काम किए। लोगों की समस्याएं बढ़ रही हैं। अब जनता ने फिर से छग और म.प्र. के दोनों पुराने मुख्यमंत्रियों डॉ़ रमन सिंह और शिवराज सिंह चौहान को याद करना शुरू कर दिया है और उनका कहना है कि इनसे तो बेहतर वो ही थे। अच्छा काम कर रहे थे।
प्रश्न- वायुसेना की एयरस्ट्राइक को लेकर विपक्ष सरकार से सबूत मांग रहा है। इसपर आपकी क्या प्रतिक्रिया है?
उत्तर- इससे ज्यादा कोई विड़बना नहीं हो सकती, इससे ज्यादा कोई शर्मनाक बात नहीं हो सकती और इससे ज्यादा कोई शर्मनाक सोच नहीं हो सकती। मैं समझता हूं कि देश के वीर जवानों, वायुसेना के जांबाजों की बहादुरी और क्षमता पर प्रश्नचिंह लगाया जा रहा है। यह विपक्ष के मानसिक दिवालियापन की निशानी है। जहां तक सबूत की बात है तो इन्हें इनका असली सबूत तो 23 मई को तब मिल जाएगा। जब बेहद खराब तरीके से इनकी हार होगी और नरेंद्र मोदी जनता के अभूतपूर्व समर्थन के साथ देश में फिर से सरकार बनाएंगे।
प्रश्न- यूपी में भाजपा के खिलाफ सपा-बसपा ने गठबंधन किया, कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को चुनाव मैदान में उतारा है। क्या इससे भाजपा के लिए कोई बड़ी चुनौती खड़ी हो सकती है। कैसे निपटेंगे?
उत्तर- हमारी पार्टी अमित शाह जी के नेतृत्व में दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है और मोदी जी के नेतृत्व में पूरे नि:स्वार्थ भाव से राष्ट्रधर्म का पालन कर रही है। हमें किसी बात से कोई खतरा नहीं है। हमारे पास पीएम जैसे महान नेताओं का नेतृत्व है, अमित शाह जी का हमारे पास सु-संगठन कौशल है, अटल बिहारी वाजपयी और लालकृष्ण आड़वाणी जैसे नेताओं का आर्शीवाद है। हमें किसी से डरने की कोई जरूरत नहीं है। इसके अलावा भाजपा के पास करोड़ों देवतुल्य और देवदुलर्भ कार्यकर्ताओं की फौज है। ऐसे में हमें किसी गठबंधन या किसी और बात की कोई परवाह नहीं है।
प्रश्न- 2014 में भाजपा ने दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस बार भी यह कहा जा रहा है कि ऐसा ही होगा। आपकी क्या राय है?
उत्तर- निश्चित रूप से हम एक बार फिर से सातों सीटों पर जीत दर्ज करेंगे। इसमें किसी को जरा भी संदेह नहीं है। हमें इस बात का बेसब्री से इंतजार है कि दिल्ली में कांग्रेस और आप को मिलकर या अलग-अलग हराने का मौका मिलेगा। जो भी हो हम सातों सीटों पर कांग्रेस को भी हराएंगे और आम आदमी पार्टी को भी हराएंगे। अगर ये दोनों मिलकर अपना कोई नया नाम भी बनाएंगे, तो उसे भी हम हराएंगे।
प्रश्न- आपको उम्मीद है कि एक बार फिर केंद्र में एनडीए की सरकार बनेगी?
उत्तर- पिछले 2014 में जो परिणाम आए थे और नरेंद्र मोदी जी ने करीब 30 साल के बाद देश का राजनीतिक और चुनावी इतिहास बदला था। इस बार मैं कहूंगा कि पहले के मुकाबले भी बहुत अच्छे नतीजे आएंगे और इसमें कोई शक नहीं है कि शत-प्रतिशत एनडीए की ही सरकार केंद्र में बनेगी। जिसके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही होंगे।
प्रश्न- बीते पांच सालों से आप केंद्र की सत्ता में हैं। ऐसे में किन मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएंगे?
उत्तर- पांच साल में सरकार ने युवाओं, गरीबों, किसानों और मजदूरों के लिए जो भी योजनाएं बनाई हैं। उसमें जनधन से लेकर शौचालय, स्वच्छ भारत, वन रैंक वन पेंशन, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक, सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद फौज को दिया गया सम्मान, सरदार पटेल की सवार्धिक ऊंची प्रतिमा बनाना, डिजीटल इंडिया, स्किल इंडिया, उज्जवला योजना, मुद्रा लोन जैसी कई महत्वपूर्ण योजनाएं हैं, जिन्हें लेकर भाजपा ही नहीं बल्कि पूरा एनडीए देश की जनता के सामने चुनावी प्रचार के दौरान जोर-शोर से जाएगा और उसे अपना वोट देकर समर्थन देने की अपील करेगा। एक वो दौर था जब किसी योजना में दिल्ली से एक रूपया भेजने पर लोगों को मात्र कुछ पैसे ही मिलते थे। लेकिन आज जितना पैसा भेजो, उतना ही मिलता है। इतना ही नहीं भारत की छवि वर्तमान में देश ही नहीं दुनिया के सामने भी एक सम्मानित और मजबूत राष्ट्र की बनी है। सभी का जिक्र जनता जर्नादन के सामने किया जाएगा।
Next Story
hari bhoomi
Share it
Top