Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इस देश में मुसलमान होना जुर्म समझा जाता है: हार्दिक पटेल

हार्दिक पटेल ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए लिखा कि अगर हार्दिक पटेल भड़काऊ भाषण देते है तो, साध्वीजी,साक्षीजी,गिरिराजजी,संगीत सोम जी जैसे लोग क्या अमृत बरसाते हैं।

इस देश में मुसलमान होना जुर्म समझा जाता है: हार्दिक पटेल

गुजरात में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक बार फिर ट्विटर के जरिए केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। हार्दिक पटेल ने एक के बाद एक कई ट्वीट करते हुए लिखा कि अगर हार्दिक पटेल भड़काऊ भाषण देते हैं तो, साध्वीजी,साक्षीजी,गिरिराजजी,संगीत सोम जी जैसे लोग क्या अमृत बरसाते हैं।

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर हार्दिक के खिलाफ ही लोगों ने सवालों की बौछार कर दी। लोगों ने कहा कि उनके भाषण से हिंसा नहीं फैलती जबकि हार्दिक जैसे नेताओं के भाषण हिंसा फैलाते हैं, लोगों को मारते हैं।

हार्दिक पटेल ने इसके अलाव एक और ट्वीट करते लिखा कि, देश का असली दुश्मन दूसरों को गद्दार बोलकर अपना 'दाग' छुपा लेता हैं। अक्षरधाम मंदिर जैसे कई आतंकी हमले का आरोप मुसलामानों पर थोपकर उनको जेल भेज दिया। वो सभी मुस्लिम निर्दोष बरी हुए। फिर वो हमले किए किसने? यानी, देश का असली आतंकी दूसरों को आतंकी बोलकर अपना आतंक छुपा लेता है!!

इसके बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक ट्वीट और करते हुए लिखा, मुसलमान होना तो इस देश मे जुर्म समझा जाता हैं, मगर मैं तो हिंदू हूं फिर भगवा टोला हाथ धोकर मेरें पीछे क्यू पड़ा हुआ है क्या सिर्फ इस लिए की हमने साहेब को चुनौती दी है ??

इसके अलावा हार्दिक ने एक ट्वीट करते हुए लिखा- 52,685 गांवो में आज भी मोबाइल नेटवर्क नहीं, ये मैं नहीं कह रहा संचार मंत्रालय की रिपोर्ट कहती हैं।

विधानसभा चुनाव में मिली हार

आपको बता दें कि गुजरात में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने पाटीदारों के आरक्षण को लेकर एक बड़ा आंदोलन खड़ा किया था। हार्दिक पटेल कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे। विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान भाषणों में लाखों की भीड़ जुटाने वाले हार्दिक पटेल भीड़ को वोट में नहीं बदल पाए और चुनाव हार गए।

चुनाव प्रचार की दौरान बीजेपी और कांग्रेस में जमकर चुनावी जंग देखने को मिली थी। हार्दिक ने केंद्र सरकार और राज्य सरकार के खिलाफ कड़ी आलोचना करते हुए भाषण दिए थे।

यह भी पढ़ें- राहुल ने ट्विटर पर लिखी जेटली की गलत स्पेलिंग, अवमानना नोटिस जारी

गुजरात विधानसभा चुनाव में हार मिलने के बाद पटेल ने कहा था कि हार्दिक नहीं हारा, बेरोज़गारी हारी है, शिक्षा की हार हुई है, स्वास्थ्य की हार हुई है, किसान की नमी आंख हारी हैं। आम लोगों से जुड़ा हर मुद्दा हारा है, एक उम्मीद हारी हैं।

उन्होंने कहा था सच कहु तो गुजरात की जनता हार गई और ईवीएम की गड़बड़ी जीत गई। हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा पर कहा है कि वह भाजपा को उसकी जीत के लिए अभिनंदन नहीं देंगे। उन्होंने ट्वीट करके आरोप लगाया की भाजपा यह चुनाव बेईमानी से जीती है।

Loading...
Share it
Top