Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Happy New Year 2019 : नए साल पर खुद से करें ये पांच वादे, कामयाबी चूमेगी कदम

नया साल 2019 (New Year 2019) शुरू होने वाला है। जिसको लेकर नए साल के जश्‍न की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। नए साल के मौके पर हम सभी को उम्मीदें होती हैं कि आने वाला साल हमारे लिए काफी अच्छा साबित होगा। नया साल नई उम्मीदों, नई इच्छाओं, नई आशाओं और नई संभावनाओं को तलाशने के साथ अपने आप से वादे करने का भी होता है

Happy New Year 2019 : नए साल पर खुद से करें ये पांच वादे, कामयाबी चूमेगी कदम
नया साल 2019 (New Year 2019) शुरू होने वाला है। जिसको लेकर नए साल के जश्‍न की तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। नए साल के मौके पर हम सभी को उम्मीदें होती हैं कि आने वाला साल हमारे लिए काफी अच्छा साबित होगा।
नया साल नई उम्मीदों, नई इच्छाओं, नई आशाओं और नई संभावनाओं को तलाशने के साथ अपने आप से वादे करने का भी होता है। हर साल की तरह आने वाले साल पर आप अपने आप से कुछ नए वादे करते हैं। ताकि जो बिक गया है वो हम दोबारा ना करें। इसको लेकर हम आपने अंदर की कुछ आदतों को बदलते हैं या फिर उन्हें छोड़ देते हैं। जब आप नई आदतों को अपनाएंगे तो पुरानी सभी आदतें आपकी धीरे धीरे छोट जाएंगी।

पहला वादा -

नए साल पर अपना एक लक्ष्य रखें और आदतों को बदलें। नए साल पर नए सोच के साथ संकल्प लें और एक एक करके अपना आदतों को छोड़े। एकदम कुछ भी नहीं छोड़ा जा सकता है। इसलिए जो भी करना हो उसके लिए एक लक्ष्य बनाएं और आगे बढ़ें ताकि आप नए साल को नई आदतों के साथ छोड़ें। इसलिए एक वक्त में एक ही नई और अच्छी आदत के बारे में सोचिए और उसका एक लक्ष्य बनाकर पूरा करें। फिर अगली आदत को बदलने के बारे में सोचें। धीरे धीरे आप अपनी आदतों में बदलाव महसूस करेंगे।

दूसरा वादा -

नए साल पर आप अपनी आदतों को बदलने के लिए जो वादा करते हैं उसके लिए आप हमेशा संकल्प पर कायम रहें। ज्यादातर लोग वादा तो कर लेते हैं लेकिन कभी भी उसको पूरा नहीं कर पाते हैं। जब कोई किसी आदत को छोड़ने के लिए बारे में सोचता है और फिर उस राह पर आगे बढ़ता है। लेकिन कुछ परेशानियों के बाद वो उस आदत को छोड़ देता है। ऐसा इस लिए होता है कि आप अपने उस संकल्प को खरे नहीं उतरे हैं। जैसे कि आपने सोचा में हर दिन सुबह उठकर योग करूंगा लेकिन ये चीजें सिर्फ दो तीन दिन तक होती है और फिर वो पीछे छुट जाती हैं। ऐसे में आपने जो संकल्प लिया है उस पर अड़िग रहे और बार बार उसके बारे में सोचते रहें।

तीसरा वादा -

नए साल पर पुरानी आदतों को छोड़ नई आदतों को अपना ने में एक व्यक्ति का परेशानी हो सकती हैं लेकिन अगर आपका कोई दोस्त हैं या आप ग्रुप के साथ कई आदतों के बारे में छो़ड़ने के बारे में सोचते हैं तो आप आसानी से इन आदतों को छोड़ सकते हैं। इसलिए हर आदत को छोड़ने के लिए एक साथी की तलाश करें और उसके साथ आप अपनी आदतों को थोड़ने का संकल्प करें। कुछ साथी ऐसे भी होंगे जो आपको आपकी आदतों से दूर नहीं जाने देंगे। ऐसे दोस्तों का साथ नई साल से एक दिन पहले ही छोड़ दें।

चौथा वादा -

नए साल नई उम्मीदों वाला होता है। इसलिए हमेशा कुछ सीखने की जिज्ञासा बनाए रखें और हमेशा कुछ नया करने की ललक ही आपको आगे बढ़ाएगी। पूरे साल जिज्ञासा और सीखने की प्रक्रिया से भरे रहें। जैसे कि आप स्कूल में पढ़ते हैं और बार बार अच्छे अंक नहीं मिल पा रहे हैं लेकिन आपकी अंकों में थोड़ी थोड़ी बढ़ोतरी हो रही है। तो ऐसे में आपमें बदलाव हो रहा है और आपके सिखने की ललक जारी है। हमेशा सफलता और विफलता को सीखने का हिस्सा समझें।

पांचवा वादा -

नए साल को नया बनाने के लिए आप प्लानिंग करते रहें। हर सप्ताह अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्लानिंग करते रहें। ज्यादातर लोग ऐसी योजनाएं बनाते हैं, जिन्हें पूरा करने में साल भर लग जाता है तो कभी कभी वो अगले साल तक चलती रहती है। लेकिन हमेशा हर अच्छे के लिए प्लानिंग करनी ही पड़ती है। जैसे कई लोग अपने जीवन में लक्ष्य बनाते हैं और उसके लिए प्लानिंग करते हैं वैसे ही आप अपने एक साल के प्लान के लिए एक साल की प्लानिंग करें और हफ्ते उसमें बदलाव कर आगे बढ़ने की कोशिश करते रहें। नया साल आने वाला है और आप नई उम्मीदों के साथ साल की शुरुआत करें।
Next Story
Share it
Top