Top

Happy Makar Sankranti 2019 : इन जगहों पर अलग है 'मकर संक्रांति का महत्‍व'

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jan 11 2019 12:57PM IST
Happy Makar Sankranti 2019 : इन जगहों पर अलग है 'मकर संक्रांति का महत्‍व'

Happy Makar Sankranti 2019

मकर संक्रांति 2019 (Makar Sankranti 2019) साल का सबसे पहला त्यौहार होता है। लोग एक दूसरे को मकर संक्रांति की शुभकामनाएं (Happy Makar Sankranti 2019) देते हैं। भारत में सभी त्यौहार पूरे देश में मनाए जाते हैं लेकिन मकर संक्रांति की बात ही अलग है। कई जगह मकर संक्रांति को संक्रांति (Sankranti) कहा जाता है। मकर संक्रांति देश के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरीकों से मानाई जाती है। मकर संक्रांति भारत के पड़ोसी देश नेपाल में भी मनाई जाती है। अगर आप इस बार किसी और राज्य की मकर संक्रांति का हिस्सा बनाने चाहते हैं तो बन सकते हैं और दूसरी जगह पर मकर संक्रांति त्यौहार का आनंद ले सकते हैं। तो चलिए हम आपको बता दें कि कहां और कैसे मनाते हैं मकर संक्रांति। 

मकर संक्रांति हरियाणा-पंजाब (Makar Sankranti Haryana Punjab)

हरियाणा और पंजाब में मकर संक्रांति 13 जनवरी को मनाई जाती है, यानी 14 जनवरी से एक दिन पहले। हरियाणा और पंजाब में इस पर्व को 'लोहिड़ी' के रूप में सेलिब्रेट करते हैं।

लोहिड़ी का पर्व नई-नवेली दुल्‍हनों और नवजात बच्‍चे के लिए बेहद माना गया है। इस दिन अग्निदेव की पूजा करते हुए तिल, गुड़, चावल और भुने मक्‍के की उसमें आहुति दी जाती है। एक दूसरो को तिल की बनीं मिठाईयां खिलाते हैं इसी के साथ लोहड़ी लोकगीत भी गए जाते हैं।

मकर संक्रांति उत्तर प्रदेश (Makar Sankranti Uttar Pradesh)

उत्तर प्रदेश में मकर संक्रांति के पर्व को 'दान का पर्व' कहा जाता है। उत्तर प्रदेश में इस पर्व को 14 जनवरी को मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति पर्व के दिन पृथ्‍वी पर अच्‍छे दिनों की शुरुआत होती है और शुभकार्य किए जा सकते हैं।

इस पर्व के दौरान गंगा घाटों पर मेलों का भी आयोजन किया जाता है, इस दिन स्नान करने के बाद दान देने की परंपरा है। साथ ही पतंगें भी उड़ाई जाती हैं। यूपी में इसे खिचड़ी के नाम से भी जाना जाता है। 

मकर संक्रांति बंगाल (Makar Sankranti Bengal)

बंगाल में मकर संक्रांति पर्व के दिन स्‍नान करने के बाद तिल दान करने की परंपरा है। यह भी कहा जाता है कि मकर संक्रांति पर्व के दिन यशोदा जी ने श्रीकृष्‍ण की प्राप्ति के लिए व्रत रखा था। 

मकर संक्रांति पर्व के दिन ही मां गंगा भगीरथ के पीछे गई थी और कपिल मुनि के आश्रम से होते हुए गंगा सागर में जा मिली थीं। इसी कारण इस दिन गंगासागर में बहुत बड़े मेले का आयोजन किया जाता है। 

मकर संक्रांति बिहार (Makar Sankranti Bihar)

बिहार में मकर संक्रांति के पर्व को खिचड़ी के नाम से जाना जाता है। ही नाम से जानते हैं। यहां पर मकर संक्रांति के पर्व चावल, तिल, खटाई, उड़द की दाल और ऊनी वस्‍त्र दान करने की प्रथा है। वहीं असम में मकर संक्रांति के पर्व को 'माघ- बिहू' और 'भोगाली-बिहू' के नाम से जाना जात है।

मकर संक्रांति तमिलनाडु (Makar Sankranti Tamil Nadu)

तमिलनाडु में मकर संक्रांति का पर्व बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। यहां पर इस पर्व को चार दिन तक मनाते हैं। तमिलनाडु में संक्रांति के पहले दिन को 'भोगी- पोंगल, दूसरा दिन को सूर्य- पोंगल, तीसरा को दिन 'मट्टू- पोंगल' और चौथा दिन को 'कन्‍या- पोंगल' के रूप में मनाते हैं। साथ ही पूजा भी की जाती है।

मकर संक्रांति राजस्थान (Makar Sankranti Rajasthan)

राजस्थान में भी मकर संक्रांति का पर्व बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। यहां पर इस दिन बहुएं अपनी सास को मिठाईयां और फल देती है और सास का आशीर्वाद लेती हैं।

बताया गया है कि मकर संक्रांति के पर्व के दिन किसी भी सौभाग्‍य की वस्‍तू को 14 की संख्‍या में दान किया जाता है जिसका अलग ही महत्‍व बताया गया है। वहीं महाराष्‍ट्र में मकर संक्रांति के पर्व पर गूल नामक हलवे को बांटने की प्रथा है।

मकर संक्रांति नेपाल (Makar Sankranti Nepal)

मकर संक्रांति का पर्व भारत के पड़ोसी देश नेपाल में भी बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। यहां पर इस दिन भक्‍त अच्‍छी फसल के लिए भगवान को शुक्रिया कहते हैं और प्रार्थना करते हैं कि सभी पर उनकी भगवान की कृपा हमेशा बनीं रहे। नेपाल में इस पर्व को 'फसल का त्‍योहार/  किसानों के त्‍योहार के रूप में भी जानते हैं।


ADS

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
happy makar sankranti 2019 in hindi importance of makar sankranti

-Tags:#Makar Sankranti 2019#Makar Sankranti#Haryana Punjab#Lohri#India#Makar Sankranti Celebration

ADS

मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo