Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत ने की इंटरनेशनल व्यापार की भागीदारी, हैनोवर फेयर पर हुआ हस्ताक्षर समझौता

जिसने अपने अप्रैल 2015 के एडिशन के लिए भारत को अपेक्षित साझीदार देश का दर्जा दिया है

भारत ने की इंटरनेशनल व्यापार की भागीदारी, हैनोवर फेयर पर हुआ हस्ताक्षर समझौता
नई दिल्ली. इंडियन हाईटेक प्रोडक्ट्स एण्ड सर्विसेस को हैनोवर फेयर में तत्काल विजिबिलिटी प्राप्त होगी, जिसने अपने अप्रैल 2015 के एडिशन के लिए भारत को अपेक्षित साझीदार देश का दर्जा दिया है। इसके लिए विश्व के सबसे बड़े और पुराने र्जमनी के इंजीनियरिंग ट्रेड फेयर के आयोजक डायश मेसी एजी और इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया (ईईपीसी) इंडिया के बीच औपचारिक समझौते पर हस्ताक्षर किये गये हैं।
र्जमनी में होने वाले भारत के इंटरनेशनल ट्रेड के लिए नोडल मंत्रालय के रूप में वाणिज्य मंत्रालय ने इंडिया ब्रांड ईक्विटी फाउंडेशन के साथ ईईपीसी इंडिया को हैनोवर मेसी 2015 में देश से उच्च स्तरीय प्रतिभागिता के आयोजन के लिए और ग्लोबल खिलाड़ियों को इंजीनियरिंग गूड्स और टर्न की सेवाओं के भरोसेमंद और हाईटेक सप्लायर के रूप में भारत की पहचान स्थापित करने में मदद करने के लिए मैन्डेट किया है।
भारत सरकार के वाणिज्य मंत्रालय में सचिव राजीव खेर की मौजूदगी में ईईपीसी इंडिया के कार्यकारी निदेशक भास्कर सरकार और डायश मेसी एजी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट मार्क सीमरिंग ने इस करार पर समझौता हस्ताक्षर किये हैं।
इस मौके पर वाणिज्य एंड उद्योग मंत्रालय के संयुक्त सचिव रवि कपूर ईईपीसी इंडिया के चेयरमैन अनुपम शाह व हैनोवर मिलानों फेयर्स इंडिया के प्रबंध निदेशक मेहुल लैनवर्स शाह भी मौजूद थे।
वाणिज्य मंत्रालय में सचिव राजीव खेर ने बताया कि औद्योगिक तकनीक के लिए विश्व का अग्रणी ट्रेड फेयर अगले साल 13 से 17 अप्रैल 2015 के बीच र्जमनी में आयोजित होने वाले ट्रेड फेयर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी शिरकत करेंगे, जिन्हें र्जमन चांसलर एंजेला मर्केल ने न्यौता भेजा है।
नीचे की स्लाइड्स मेंजानिए, कब है हैनोवर फेयर -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Top