Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हंदवाड़ा अटैकः मारे गए तीन आतंकी, मिले पाकिस्तानी हथियार

हंदवाड़ा में मारे गए 3 आतंकियों के पास से पाकिस्तान के निशान वाले सामान मिले।

हंदवाड़ा अटैकः मारे गए तीन आतंकी, मिले पाकिस्तानी हथियार
हंदवाड़ा. जम्मू-कश्मीर में हंदवाड़ा के लांगेत में सेना के कैंप पर एक बार फिर आतंकी हमले को नाकाम कर दिया गया है। इस बार आतंकियों का निशाना हंदवाड़ा में 30 राष्ट्रीय राइफल कैंप बना। आतंकियों ने सेना के कैंप पर ओपन फायरिंग की है। फिलहाल किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। ताजा जानकारी के अनुसार अब तक सेना के जवानों ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया है। हालांकि फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं हुई है।
आतंकियों ने आज सुबह-सुबह 30 राष्ट्रीय रायफल्स के मेन गेट पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी, जिस पर जवानों ने जवाबी कार्रवाई। सुरक्षा बलों ने फिलहाल पूरे इलाके को घेर कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। आशंका जताई जा रही है कि उरी की तरह ही यहां भी आतंकियों की कोशिश राष्ट्रीय राइफ़ल्स के कैंप में घुसने की थी, लेकिन चौकन्ना जवानों ने आतंकियों की इस कोशिश को नाकाम करते हुए तीन आतंकियों को ढेर कर दिया, जबकि कुछ आतंकियों के पास के जंगल में छिप जाने की आशंका है। इस दौरान किसी भारतीय सैनिक के हताहत होने की सूचना नहीं है।
सेना ने बताया कि इन आतंकियों के पास से एके-47 राइफल, ग्रेनेड लॉन्चर के अलावा भारी मात्रा में गोला बारूद मिले हैं। इसके अलावा उनके पास से रास्ते बताने वाला जीपीएस, रेडियो सेट और नक्शे भी मिले हैं. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उनके पास मिले खाने और दवाइयों के पैकेट पर पाकिस्तान के निशान पाए गए हैं।
पीओके में भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद आतंकी बौखलाए हुए हैं और सुरक्षा बलों को निशाना बना रहे हैं।सीमा पर गोलाबारी कर रही पाकिस्तानी सेना ने मंगलवार को राजौरी के नौशहरा, जम्मू के प्लांवाला व पुंछ के बलनोई सेक्टर में ताबड़तोड़ मोर्टार व राकेट के गोले दागकर साफ कर दिया कि वह शांति के पक्ष में नहीं। पाकिस्तान भारतीय चौकियों के साथ रिहायशी इलाकों को भी निशाना बना रहा है।
सेना के अधिकारी ने बताया कि जब सैन्य बल तलाशी अभियान चला रहे थे, तभी आतंकवादियों ने उन पर फिर से गोलीबारी की। अधिकारी ने कहा, 'मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए और घटनास्थल से तीन एके 47 राइफल बरामद हुईं.' उन्होंने बताया कि इलाके में अब भी कुछ आतंकियों के छिपे होने की आशंका है, जिन्हें पकड़ने के लिए अभियान चल रहा है।
अमूमन रात के अंधेरे में गोलीबारी करने वाले पाकिस्तान ने अखनूर तहसील के प्लांवाला सेक्टर में मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे के बाद 81 एमएम के मोर्टार के गोले दागने शुरू किए, जो देर शाम तक जारी रहे। सूत्रों के अनुसार गोलाबारी में सेना का जवान धीरेंद्र विष्ट जख्मी हुए थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top