Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

एच1बी वीजा: अमेरिका जाने वाले 2 अप्रैल से करें आवेदन, प्रीमियम प्रोसेसिंग पर रोक

भारतीय पेशेवरों के बीच प्रचलित एच1 बी वीजा के लिए आवेदन प्रक्रिया 2 अप्रैल से शुरू होगी। एक संघीय एजेंसी ने इसकी घोषणा की। इसके साथ ही एच1 बी वीजा आवेदनों की प्रीमियम लेकर प्रसंस्करण पर फिलहाल अस्थायी रोक लगा दी गई है।

एच1बी वीजा: अमेरिका जाने वाले 2 अप्रैल से करें आवेदन, प्रीमियम प्रोसेसिंग पर रोक

भारतीय पेशेवरों के बीच प्रचलित एच1 बी वीजा के लिए आवेदन प्रक्रिया 2 अप्रैल से शुरू होगी। एक संघीय एजेंसी ने इसकी घोषणा की। इसके साथ ही एच1 बी वीजा आवेदनों की प्रीमियम लेकर प्रसंस्करण पर फिलहाल अस्थायी रोक लगा दी गई है।

एच1- बी वीजा एक गैर- प्रवासी वीजा है जो कि अमेरिकी कंपनियों को दक्ष विदेशी कर्मचारियों को नौकरी पर रखने की अनुमति देता है। प्रौद्योगिकी कंपनियां इस वीजा पर बहुत अधिक निर्भर हैं और हर साल भारत और चीन जैसे देशों से हजारों कर्मचारियों को नौकरियां देते हैं।
ये भी पढ़ें - एलजी ने केजरीवाल सरकार को दिया झटका, अब राशन डोरस्टेप डिलीवरी पर तू-तू मैं-मै
अमेरिका के नागरिकता एवं आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) विभाग ने कहा कि वित्त वर्ष 2019 के लिए एच1 बी वीजा आवेदन दाखिल करने की तिथि एक अक्तूबर से शुरू हो रही है। सभी एच1 बी वीजा आवेदनों की प्रीमियम प्रसंस्करण पर रोक लगा दी गई, जिसके 10 सितंबर 2018 तक जारी रहने की उम्मीद है।
यूएससीआईएस ने कहा कि इस समय के दौरान वह उन एच-1 बी आवेदनों के प्रीमियम प्रसंस्करण का अनुरोध स्वीकार करना जारी रखेगा जो वित्त वर्ष 2019 की सीमा के अधीन नहीं हैं। आव्रजन विभाग ने कहा कि प्रीमियम प्रोसेसिंग पर अस्थायी रोक एच1 बी वीजा की प्रक्रिया में लगने वाले समय को कम करने में मदद करेगा।
यह काफी समय से लंबित पड़े आवेदनों को निपटाने की प्रक्रिया में सक्षम होगा। 15 दिन की एच1 बी वीजा प्रीमियम प्रसंस्करण सेवा अमेरिकी नियोक्ताओं को अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए और एक विदेशी कर्मचारी की नियुक्ति के लिए एच1 बी वीजा आवेदन को शीघ्र निपटाने का अवसर देती है। हालांकि, इस सेवा के लिए नियोक्ता को कुछ शुल्क देना होता है।
Next Story
Top