Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रयान स्कूल केस: ''कंडक्टर शांत स्वाभाव का है, विशवास नहीं होता उसने ये किया''

ड्राइवर सौरभ ने कहा कि कंडक्टर अशोक कुमार शांत स्वाभाव का आदमी है।

रयान स्कूल केस:

रयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास के सात साल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के मामले में स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ ने कहा कि 7:50 पर हमने स्कूल में बस को पार्किंग में लगाया था, उसके बाद कंडक्टर कहां गया मुझे नहीं पता।

ड्राइवर सौरभ कुमार ने कहा कि कंडक्टर अशोक कुमार शांत स्वाभाव का आदमी है, उसने ये सब किया विशवास नहीं होता, गौरतलब है कि इससे पहले प्रद्युमन की मां ज्योति ठाकुर ने भी अशोक को मामले में बेवजह घसीटने की बात कही थी।

बता दें कि आज बॉम्बे हाई कोर्ट में रयान स्कूल के मालिओं की अंतरिम जमानत पर सुनवाई होगी, इससे पहले प्रद्युम्न ठाकुर के पिता की तरफ से दायर याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने केंद्र सरकार, हरियाणा सरकार और मानव संसाधन मंत्रालय को नोटिस भेजकर तीन हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है।

कोर्ट ने कही ये बड़ी बात

कोर्ट ने कहा कि यह एक स्कूल का मामला नहीं, बल्कि यह देश से जुड़ा मामला है। गौरतलब है कि बच्चे के पिता वरुण ठाकुर ने कोर्ट में अपील कर सीबीआई जांच की मांग की थी।

वरुण के वकील के मुताबिक, 'हमने कहा है कि स्कूल की कमियों पर उसकी जिम्मेदारी तय की जाए। आयोग या ट्रिब्यूनल बनाया जाए।' कोर्ट ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल को भी नोटिस जारी किया है।

ये है रयान स्कूल का मामला

गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को 7 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई थी। शव शौचालय में मिला था। इस मामले में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। आरोपी अशोक 8 महीने पहले ही स्कूल में कंडक्टर की नौकरी पर लगा था।

Next Story
Share it
Top