Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रद्युम्न मर्डर केस: आरोप साबित होने पर नाबालिग छात्र को मिलेगी ऐसी सजा

प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार 11वीं में पढ़ने वाला आरोपी छात्र अभी नाबालिग है।

प्रद्युम्न मर्डर केस: आरोप साबित होने पर नाबालिग छात्र को मिलेगी ऐसी सजा
X

प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार 11वीं में पढ़ने वाला आरोपी छात्र अभी नाबालिग है। जिसकी उम्र 16 साल बताई जा रही है।

फिलहाल सीबीआई ने आरोपी छात्र को जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड के सामने पेश किया, जहां से उसे 3 दिन की रिमांड भेजा गया है। रिमांड के दौरान सीबीआई सुबह 10-6 बजे तक आरोपी छात्र से पूछताछ कर पाएंगे।

इसे भी पढ़ें- प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी छात्र ने कैसे की हत्या, अब ऐसे जानेगी सीबीआई

इस मामले पर जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड का कहना है कि पूछताछ के बाद आरोपी को ऑब्जर्वेशन में भेजा जाएगा। लेकिन सीबीआई मांग कर रही है कि आरोपी छात्र को बालिग मानकर कोर्ट इस जघन्य अपराध के लिए उसे उम्रकैद या फांसी की सजा सुनाए। ऐसे में यह सवाल उठता है कि अगर 16 वर्षीय छात्र पर आरोप साबित हो गया तो उसे क्या सजा मिलेगी।

गौरतलब है कि दिल्ली में हुए निर्भया कांड के बाद कानून में कुछ संशोधन हुए थे, जिसके तहत केंद्र सरकार ने जुवेनाइल जस्टिस अधिनियम 2015 पारित कराया था। यह कानून 15 जनवरी 2016 से लागू हो गया था। इसके तहत पहले जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड शुरूआती जांच कर अपराध की प्रकृति का पता लगाता है। फिर बोर्ड यह मालूम करता है कि अपराध करने की मानसिकता क्या थी। उसे एक बालक के तौर पर किया गया है या वयस्क की मानसिकता के तौर पर।

इस जांच में बोर्ड द्वारा मनोचिकित्सक और समाज विशेषज्ञ शामिल होते हैं। यह अपराध की वस्तुस्थिति को बेहतर समझते हैं। अगर अपराधी नाबालिग माना गया तो उसे 3-7 साल के लिए बाल सुधार गृह में भेजा जाता है। लेकिन यदि वह वयस्क की मानसिकता के तौर पर अपराध करता है तो उसके साथ वयस्क की तरह बर्ताव होता है।

इसे भी पढ़ें- आरुषि हत्याकांड की तरह कहीं उलझ न जाए प्रद्युम्न हत्याकांड की पहेली?

प्रद्युम्न केस में यदि जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने आरोपी छात्र की मानसिकता का अध्ययन करने के बाद उसे वयस्क मान लिया तो उसे उम्रकैद तक की सजा हो सकती है।

गौरतलब है कि गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को प्रद्युम्न ठाकुर की स्कूल के टॉयलेट में हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद इस मामले में आरोपी कंडक्टर की गिरफ्तारी हुई थी। लेकिन गुरुवार को सीबीआई ने इस मामले में खुलासा करते हुए स्कूल के 11वीं के छात्र को गिरफ्तार किया है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story