Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुजरात चुनाव: ये हैं भाजपा और कांग्रेस के साढ़ू भाई, देंगे एक दूसरे को कड़ी टक्कट

गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस में कड़े मुकाबले के बीच एक ही परिवार के दो सदस्य अपने निजी रिश्तों को परे रखकर दोनों प्रतिद्वंद्वी दलों की तरफ से चुनाव लड़ रहे हैं।

गुजरात चुनाव: ये हैं भाजपा और कांग्रेस के साढ़ू भाई, देंगे एक दूसरे को कड़ी टक्कट

गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस में कड़े मुकाबले के बीच एक ही परिवार के दो सदस्य अपने निजी रिश्तों को परे रखकर दोनों प्रतिद्वंद्वी दलों की तरफ से चुनाव लड़ रहे हैं।

जयसुख ककाडिया अमरेली जिले में धारी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं, जबकि उनके साढ़ू कमलेश कनानी इसी जिले की सावरकुंडला सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं।

इसे भी पढ़ें: 'कांग्रेस ने मज़हब के नाम पर देश बांट दिया'

ककाडिया और कनानी की पत्नियां आपस में बहनें हैं। ककाडिया ने कहा कि उनकी उम्मीदवारी स्पष्ट है क्योंकि उन्होंने दो दशक से कांग्रेस के साथ काम करने का दावा किया है। कनानी का भी कहना है कि वह पिछले 20 वर्षों से भाजपा के कार्यकर्ता रहे हैं।

ककाडिया ने कहा कि मैं अपने लोगों की सेवा करना चाहता हूं और अपनी पार्टी के जरिए यह काम करना चाहता हूं। पाटीदार समुदाय से आने वाले ककाडिया ने कहा कि इसके अलावा मेरे पास मतदाताओं की पर्याप्त संख्या है। हमें पारिवारिक संबंधों में राजनीति को लाने की जरूरत नहीं है।

इसे भी पढ़ें: गुजरात चुनाव 2017: मोदी की तीन रैलियां, रूपाणी और हार्दिक आमने-सामने

कनानी पाटीदार नहीं है लेकिन वह इस क्षेत्र में भाजपा के अहम नेता हैं। उन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी की ओर से उम्मीदवार बनाए जाने का श्रेय अपने काम को दिया। उन्होंने कहा कि हम साढ़ू हैं। हमारी पार्टी के नेताओं के साथ-साथ लोग भी हमारे राजनीतिक संबंधों के बारे में जानते हैं।

कनानी ने कहा कि महज इस संयोग से हमारी योग्यता पर सवाल नहीं उठाया जा सकता कि हम दोनों रिश्तेदार हैं लेकिन हमारे अलग-अलग राजनीतिक संबंध हैं। राजनीति में केवल राजनीति का धर्म ही सर्वोपरि है और सबको उसके हिसाब से चलना चाहिए। अमरेली में नौ दिसंबर को मतदान होंगे।

Share it
Top