Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुजरात चुनाव: इस आदिवासी इलाके के अब भी CM हैं PM मोदी, जानिए कैसे

गुजरात के कुछ आदिवासी इलाकों में समय ठहरा हुआ है। नरेद्र मोदी के देश का प्रधानमंत्री बने तीन साल से ज्यादा हो चुके हैं, लेकिन पीएम मोदी यहां अब भी सीएम ही हैं।

गुजरात चुनाव: इस आदिवासी इलाके के अब भी CM हैं PM मोदी, जानिए कैसे

ऐसा लगता है कि गुजरात के कुछ आदिवासी इलाकों में समय ठहरा हुआ है। नरेद्र मोदी के देश का प्रधानमंत्री बने तीन साल से ज्यादा हो चुके हैं। लेकिन यहां के लोगों के लिए मोदी ही अब भी राज्य के मुख्यमंत्री हैं।

छोटा उदयपुर जिले के भीतरी हिस्सों में राठवा जैसी अनुसूचित जनजति के सदस्यों की खासी संख्या है। यहां मतदाताओं का कहना है कि वे राजनीति में तीन ही चीजें जानते हैं- मोदी, मोदी की पार्टी और कांग्रेस।

कुछ ही लोगों ने भाजपा का नाम लिया और इसे मोदी की पार्टी बताया। जब उनसे कांग्रेस के बारे में पूछा गया तो वे सिर्फ इंदिरा गांधी को ही याद कर सके।

इसे भी पढ़ें: गुजरात चुनाव: दूसरे चरण से पहले मुसलामानों में इस बात को लेकर मची खलबली, भाजपा परेशान

50 वर्षीय रामसिंह राठवा ने कहा कि मेरे पूर्वज हमेशा कांग्रेस को वोट देते थे लेकिन अब आसपास के लोग मोदी साब की पार्टी के उम्मीदवार को भी वोट देते हैं।

रामसिंह अपने गांव कांडा के तीन लोगों के साथ छोटा उदयपुर में थे और उन्होंने कमल को मोदी की पार्टी का चुनाव चिह्न बताया लेकिन वह भाजपा से अवगत नहीं थे।

चार अन्य किसानों ने कहा कि उनके निर्वाचन क्षेत्र से कोई भी उम्मीदवार जीते मोदी एक बार फिर गुजरात के मुख्यमंत्री बनेंगे। छोटा उदयपुर क्षेत्र के ही एक अन्य गांव जोगपुरा के मतदाता दिलीप राठवा ने कहा कि मुकाबला कांग्रेस और मोदी के बीच है।

इसे भी पढ़ें: गुजरात चुनाव: मोदी के गढ़ में सेंध लगाने पहुंची श्वेता, भाजपा में खलबली

उन्होंने कहा कि आम तौर पर ग्रामीण एक ही उम्मीदवार को वोट देते हैं और मोदी लोकप्रिय हैं लेकिन स्थानीय कांग्रेस नेता शादी जैसी मौकों पर आते हैं। छोटा उदयपुर जिले की तीन सुरक्षित सीटों पर आदिवासी-मुस्लिम गठबंधन से कांग्रेस को फायदा हो सकता है।

लेकिन स्थानीय भाजपा नेताओं का मानना है कि मोदी के व्यक्तित्व से हमेशा पार्टी को जीतने में मदद मिली है। पावी जेतपुर में एक स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ता रमेश पटेल इस बात से सहमत थे कि मुकाबला स्थानीय कांग्रेस उम्मीदवारों और मोदी की लोकप्रियता के बीच है।

Next Story
Share it
Top