Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुजरात में चुनाव वोट बैंक की राजनीति नहीं, अब है इन दो के बीच की लड़ाई

गुजरात में इस बार चुनाव कांग्रेस के जातिवादी एवं वंशवादी शासन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकासवाद के बीच की लड़ाई है।

गुजरात में चुनाव वोट बैंक की राजनीति नहीं, अब है इन दो के बीच की लड़ाई

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि गुजरात चुनाव सिर्फ दो पार्टियों के बीच की लड़ाई नहीं, बल्कि कांग्रेस के जातिवादी एवं वंशवादी शासन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की विकासवादी राजनीति के बीच की लड़ाई है।

अमित शाह का राहुल पर तंज

शाह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि उनकी गुजरात यात्रा बढ़ गई है क्योंकि वह राज्य को एक पर्यटन स्थल समझते हैं। शाह ने यहां कहा कि गुजरात चुनाव 2017 महज दो पार्टियों के बीच की लड़ाई, या मुख्यमंत्री बनने के लिए लड़ाई नहीं है बल्कि यह इस बात का फैसला करेगा कि क्या जातिवाद और वंशवाद जीतेगा, या फिर नरेन्द्र मोदी का विकासवाद जीतेगा।

ये भी पढ़ें - यूपी निकाय चुनाव: 24 जिलों के लिए मतदान शुरू, सीएम योगी का गृह जिला गोरखपुर भी शामिल

गुजरात बीजेपी प्रमुख जीतु वघानी के भावनगर (पश्चिम) सीट से अपना पर्चा भरने से पहले एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने यह बात कही।

ऐसे बड़ा जातिवाद और परिवारवाद

उन्होंने कहा कि गुजरात के लोगों को फैसला करना है कि क्या वे कांग्रेस को चुनेंगे जिसने 1985 और 1995 के बीच ‘क्षत्रिय, हरिजन, आदिवासी और मुस्लिम' (केएचएएम) सिद्धांत का इस्तेमाल कर जातिगत विभाजन पैदा किया, या 1995 से 2017 के बीच बीजेपी सरकार द्वारा किए गए विकास और दी गई स्थिरता को चुनेंगे।

शाह ने आरोप लगाया कि इस बार कांग्रेस ने अपना प्रचार आउटसोर्स कर दिया और यह गुजरात चुनाव जीतने के लिए जातिवाद कर रही है। बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि यह गुजरात के लोगों को तय करना है कि वे जातिवादी, वंशवादी शासन, अल्पसंख्यक तुष्टिकरण को चुनते हैं, या फिर बीजेपी की विकासवादी राजनीति और इसके द्वारा दी गई स्थिरता को चुनते हैं।

उन्होंने कहा, मित्रों, हमारे नेता नरेन्द्र मोदी ने जातिवाद, वंशवाद और अल्पसंख्यक तुष्टिकरण से भारत को निजात दिलाने की प्रक्रिया शुरू की है। उन्होंने राहुल गांधी को निशाना बनाते हुए कहा कि संप्रग सरकार ने गुजरात के लिए कुछ नहीं किया।

गुजरात को 10 साल कांग्रेस ने क्या दिया

शाह ने कहा कि राहुल गांधी को लगता है कि यह एक पर्यटन स्थल है। वह यहां अक्सर ही आ रहे हैं। मुझे उससे कोई समस्या नहीं है, बल्कि उन्हें यहां आना चाहिए और बताना चाहिए कि केंद्र में 10 साल शासन करने वाली सोनिया-मनमोहन (संप्रग) सरकार ने गुजरात के लिए क्या किया।

उन्होंने कहा कि संप्रग ने कुछ नहीं किया। नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली की सत्ता में आने के बाद बुलेट ट्रेन दिया। उन्होंने ‘रो-रो' माल ढुलाई सेवा शुरू की, उन्होंने सौराष्ट्र क्षेत्र के लिए अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा दिया और केंद्र के साथ गुजरात की सभी लंबित समस्याओं का हल किया।

Share it
Top