Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

हार्दिक पटेल बोले- गुजरात में पाटीदार आरक्षण पर कांग्रेस ने मानी बात, भाजपा निशाने पर

गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के प्रमुख नेता हार्दिक पटेल बड़ा ऐलान किया।

हार्दिक पटेल बोले- गुजरात में पाटीदार आरक्षण पर कांग्रेस ने मानी बात, भाजपा निशाने पर

गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के प्रमुख नेता हार्दिक पटेल आज बड़ा ऐलान कर दिया है। हार्दिक पटेल ने कहा कि कांग्रेस ने पाटीदार समुदाय को आरक्षण देने की बात मान ली है।

यह भी पढ़ें: यह है गुजरात में हार्दिक पटेल का पांच सूत्रीय पाटीदार आरक्षण का फॉर्मूला

पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण फॉर्मूले पर हार्दिक ने कहा कि 50 फीसदी से ज्यादा का आरक्षण विशेष परिस्थितियों में दिया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने आरक्षण को लेकर अपनी सिर्फ राय व्यक्त की है।

आरक्षण फॉर्मूला कानून के मुताबिक

उन्होंने कहा कि हमारा मानना है कि इसको लेकर प्रदेश में जनमत संग्रह और अन्य तरीके अपनाकर जनता के विचार जानने चाहिए। कांग्रेस ने ऐसा करने का भरोसा दिया है। आरक्षण फॉर्मूला कानून के मुताबिक ही होगा।

बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस करते हुए हार्दिक ने कहा कि हमने अपने लिए कोई टिकट नहीं मांग रहे हैं और ना ही कांग्रेस का प्रचार करने जा रहे हैं। लेकिन, इतना तय है कि इस बार कांग्रेस के नेतृत्व में ही सरकार बनने जा रही है।

भाजपा पर चलाए जमकर तीर

उन्होंने कहा कि वह पाटीदार समुदाय की समस्याओं को आगे भी उठाते रहेंगे। भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं को भाजपा के खिलाफ एकजुट करने की कोशिश भी जारी रहेगी।

हार्दिक ने कहा कि भाजपा ने पाटीदार नेताओं को तोड़ने के लिए गंदा खेल खेला है। पैसों से बहुत से पाटीदार नेताओं को खरीदा गया है। लेकिन, अब गुजरात की जनता भाजपा की चालों को समझ चुकी है।

गुजरात मॉडल को भी आड़े हाथ

गुजरात मॉडल को आड़े हाथ लेते हुए हार्दिक ने कहा कि प्रदेश में यह मॉडल अब फेल हो चुका है। गुजरात मॉडल फिर मीडिया में हवा बाजी की देन है। गुजरात के दूर-दराज में लोग अभी भी विकास की बांट जोह रहे हैं।

हार्दिक ने कहा कि हमने कांग्रेस से कहा है कि प्रदेश को सच्चा और ईमानदार प्रतिनिधि मिलना चाहिए ताकि जनता को उनका हक मिल सके। उन्होंने कहा कि भाजपा ने जनता को धोखा दिया है। इस बार लोग उसे सबक सिखा कर ही रहेंगे।

यह भी पढ़ें: गुजरात : सीएम रूपाणी से कई गुना ज्यादा है उनके प्रतिद्वंदी इंद्रनील की संपत्ति

बता दें कि पिछले दो दिनों से उनकी प्रेस कांफ्रेंस और बड़ी रैली टलती जा रही है। हार्दिक ने ऐलान किया था कि वह 18 नवंबर को कुछ भाजपा नेताओं के बारे में विस्फोटक खुलासा करेंगे। लेकिन, बाद में उनकी रैली प्रशासन ने रोक दी।

इसके अलावा कांग्रेस से सीट बंटवारे और पाटीदार समुदाय के लिए आरक्षण का फॉर्मूले को लेकर भी पेंच फंस गया। जिस दिन कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, उसी रात कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पाटीदार नेताओं के बीच भिड़ंत हो गई।

यह भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में दूसरे दौरे की बातचीत शुरू करेंगे मोदी सरकार के वार्ताकार दिनेश्वर शर्मा

Share it
Top