Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गुजरात चुनाव 2017: रण जीतने के लिए पीएम मोदी और राहुल गांधी ने इन मंदिरों में टेका माथा

गुजरात चुनाव के दौरान राहुल के सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी के गैर हिन्दू रजिस्टर में एंट्री को लेकर काफी घमासान मचा था।

गुजरात चुनाव 2017: रण जीतने के लिए पीएम मोदी और राहुल गांधी ने इन मंदिरों में टेका माथा

गुजरात विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के प्रचार का आज आखिरी दिन है। चुनाव प्रचार के दौरान पक्ष-विपक्ष में जुबानी जंग देखने को मिली। बीजेपी और कांग्रेस ने वोटरों को लुभाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी।

दोनों पार्टियों ने गुजरात का चुनाव जीतने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाया। गुजरात में पीएम मोदी और राहुल गांधी ने चुनाव रैली को संबोधित करने से पहले अलग-अलग मंदिरों में जाकर माथा टेका और चुनाव जीतने के लिए प्रार्थना की।

वहीं सोमनाथ मंदिर में राहुल गांधी के गैर हिन्दू रजिस्टर में एंट्री को लेकर काफी घमासान मचा था। इस दौरान बीजेपी ने राहुल गांधी के गैर हिन्दू रजिस्टर में एंट्री को लेकर जमकर निशाना साथा था।

यह भी पढ़ें- गुजरात चुनाव 2017: हार्दिक का दिनेश बमभानिया पर करारा हमला, दिया ये धांसू जवाब

बता दें कि गुजरात में करीब बीस साल से बीजेपी की सरकार है। यह चुनाव बीजेपी के लिए नाक का सवाल बना हुआ है। वहीं कांग्रेस भी गुजरात चुनाव जीतने के लिए पूरी कोशिश कर रही है।

पीएम मोदी ने इन मंदिरों में किए दर्शन

आशापूर्णा माता मंदिर, अक्षरधाम मंदिर, हटकेश्वर मंदिर, द्वारकाधीश मंदिर, अक्टूबर और नवंबर में पीएम मोदी ने इन मंदिरों में दर्शन के लिेए पहुंचे थे।

राहुल गांधी ने इन मंदिरों में किए दर्शन

मोगलधाम-बावला मंदिर, श्री रणछोड़जी मंदिर, द्वारकाधीश, कागवड में खोडलधाम, नाडियाड के संतराम मंदिर, पावागढ़ महाकाली, नवसारी में ऊनाई मां के मंदिर, अक्षरधाम मंदिर, बहुचराजी के मंदिर, कबीर मंदिर, चोटिला देवी मंदिर, दासी जीवन मंदिर, जलाराम मंदिर, वलसाड के कृष्णा मंदिर, शंखेश्वर जैन मंदिर, वीर मेघमाया मंदिर, सोमनाथ मंदिर, इसके अलावा, वे कांग्रेस की नवसर्जन यात्रा के दौरान 5 और छोटे-बड़े मंदिरों में दर्शन के लिए पहुंचे।

यह भी पढ़ें- आधार कार्ड लिंक मामला: सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई कल, जस्टिस मिश्रा ने दिए ये बड़े संकेत

बता दें कि विधानसभा की करीब 80 से 100 सीटें ऐसी हैं, जिन पर मंदिरों का असर देखा जाता है। इसी के चलते इन मंदिरों में बड़े-बड़े नेताओं का आना-जाना लगा रहता है। यही वजह कि पिछले 22 साल से सत्ता से दूर रही कांग्रेस ने अपनी कैम्पेन में इन मंदिरों को शामिल किया है।

गुजरात में 89 सीटों के लिए पहले चरण के मतदान 9 दिसंबर को हो चुके हैं। दूसरे और अंतिम चरण का मतदान 14 दिसंबर को होना है। जिसके नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे।

Next Story
Share it
Top