Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पाक में पकड़े गए सैनिक की खबर सुनकर दादी की हुई मौत

जवान के पकड़े जाने के बाद से उनका परिवार देहरे संकट से जूझ रहा है।

पाक में पकड़े गए सैनिक की खबर सुनकर दादी की हुई मौत
नई दिल्ली. उरी हमले के बाद पाकिस्तान में भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए उरी हमले का बदला लेने की खुशी अभी मनाई ही जा रही थी कि पुणे के एक जवान के पाकिस्तान के कब्जे में फंस जाने की खबरों ने चिंता बढ़ा दी। जानकारी के मुताबिक अपने सीनियर से नाराज होकर राष्ट्रीय राइफल्स के चंदू एलओसी की ओर गए थे।
सदमे से नानी की हुई मौत
जवान के पकड़े जाने के बाद से उनका परिवार देहरे संकट से जूझ रहा है। भारतीय सेना के जवान चंदू बाबूलाल चौहान की दादी लीलाबाई चिंदा पाटील ने जब यह खबर सुनी कि चंदू को पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया है, तो उन्हें सदमा लग गया और उनकी मौत हो गई। परिवार वाले चंदू बाबूलाल की अगले साल शादी भी तय कर दी थी। 23 वर्षीय चंदू बाबूलाल महाराष्ट्र के धुले जिले के वोरबीर गांव के रहनेवाले हैं। उनके पिता का नाम बाशन चौहान है। वह 37वीं राष्ट्रीय रायफल के जवान हैं। उनके भाई भी मिलिट्री में ही हैं। उनकी तैनाती फिलहाल गुजरात में है।
सीनियर अफसरों से नाराज होकर उठाया ये कदम
जानकारी के मुताबिक, चंदू की गुरुवार दोपहर अपने सीनियर से बहस हुई, जिसके बाद वह नाराजगी में एलओसी की ओर बढ़ गए। इस दौरान उनका हथियार भी साथ था। एलओसी की ओर जा रहे चंदू को उनके साथियों ने उधर न जाने के लिए मना भी किया लेकिन जवान ने किसी की एक न सुनी। इसके बाद एलओसी के पार जाते ही पाक सैनिकों ने उन्हें तुंरत गिरफ्तार कर लिया।
गलती से एलओसी के पार चला गया
सेना के अनुसार, राष्‍ट्रीय राइफल्‍स का चंदू चौहान सर्जिकल हमले का हिस्‍सा नहीं था। यह आर्मी पोस्‍ट पर ड्यूटी पर था और गलती से एलओसी के पार चला गया था। वैसे, सेना के सूत्र बताते हैं कि दोनों देशों के सैनिकों का राह भटककर दूसरे के क्षेत्र में चला जाना कोई नई बात नहीं है। इसका कारण एलओसी के आसपास एक जैसे जंगल और पहाड़ होना ह।. दोनों देशों की होने वाली बैठक में यह मुद्दे उठाए जाते हैं और उसके बाद सैनिकों को लौटा दिया जाता है, लेकिन सर्जिकल हमले के चलते यह मामला कुछ पेचीदा हो गया है।
सैनिक को वापस लाने की पूरी कोशिश
गृह मंत्री ने चंदू बाबूलाल चौहान की दादी के निधन की खबर सुनने के बाद चौहान के परिवार के सदस्यों को फोन किया। सिंह ने चंदू के परिजनों को यह आश्वासन दिया कि सरकार चंदू को सुरक्षित स्वदेश वापस लाने का भरसक प्रयास कर रही है। सिंह ने सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए बुलाई गई उच्च स्तरीय बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि इस जवान को वापस लाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के स्तर पर भी इस मामले को पाकिस्तान के समक्ष उठाया जाएगा। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने भी कहा है कि सरकार इस सैनिक को छुड़ाने के लिए पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ संपर्क कर रही है।
सिंह ने सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के लिए बुलाई गई उच्च स्तरीय बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि इस जवान को वापस लाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के स्तर पर भी इस मामले को पाकिस्तान के समक्ष उठाया जाएगा। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने भी कहा है कि सरकार इस सैनिक को छुड़ाने के लिए पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ संपर्क कर रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top