Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

पेट्रोल-डीजल पर टैक्स को लेकर सरकार का बड़ा फैसला

मंत्रालय पेट्रोल व डीजल को माल व सेवाकर जीएसटी प्रणाली के दायरे में लाए जाने के पक्ष में है।

पेट्रोल-डीजल पर टैक्स को लेकर सरकार का बड़ा फैसला

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतों में तेजी के मद्देनजर पेट्रोल व डीजल पर करों में किसी तरह की कटौती की संभावना को बुधवार को खारिज कर दिया।

प्रधान ने इस बारे में पूछे जाने पर यहां संवाददाताओं से कहा, ‘ऐसे हालात नहीं हुए हैं कि हम कर ढांचे पर फिर से विचार करें।' प्रधान ने कहा कि नई व्यवस्था में पेट्रोल व डीजल के दामों में बदलाव पारदर्शी आधार पर किया जा रहा है और शहरानुसार कीमतें एसएमएस पर उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि कीमतों में दैनिक आधार पर बदलाव बाजार को सटीक ढंग से परिलक्षित करता है। क्या सरकार पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क में कटौती पर विचार कर रही है यह पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘अभी नहीं। जब ऐसी परिस्थिति होगी तो हम देखेंगे।'

इसे भी पढ़ें: खुशखबरी: पेट्रोल और डीजल होगा और सस्ता

प्रधान ने कहा कि उनका मंत्रालय पेट्रोल व डीजल को माल व सेवाकर जीएसटी प्रणाली के दायरे में लाए जाने के पक्ष में है। पेट्रोल, डीजल, कच्चे तेल, विमानन ईंधन व प्राकृतिक गैस को जीएसटी से अलग रखा गया है।

उन्होंने कहा, ‘हम वित्त मंत्रालय तथा राज्यों से भी बार बार आग्रह कर रहे हैं कि पेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी प्रणाली में शमिल किया जाएगा।' कर दरों को समान करते हुए पेट्रोल व डीजल के दाम समान लाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा-डीजल का इस्तेमाल परिवहन व कृषि क्षेत्र के साथ साथ एसयूवी में होता है।

वहीं पेट्रोल कारों तथा दोपहिया व तिपहिया वाहनों में इस्तेमाल होता हैं। कर दरों को समान करने का मतलब डीजल की कीमतों में बढोतरी होगी जिसका परिवहन क्षेत्र पर असर होगा और यह अंतत: मुद्रास्फीति पर प्रतिकूल असर डालेगा।

Next Story
Top