Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

गूगल सेलिब्रेट कर रहा इस महान भारतीय मानचित्रकार का जन्मदिन

तिब्बत धर्म गुरू दलाईलामा भारत की यात्रा पर अधिकतर आते रहते है।

गूगल सेलिब्रेट कर रहा इस महान भारतीय मानचित्रकार का जन्मदिन

भारत के महान मानचित्रकार नैन सिंह रावत का 187वां जन्मदिन को गूगल स्पेशल डूडल बना कर सेलिब्रेट कर रहा है। नैन सिंह रावत को शायद आप न जानते हो लेकिन ये भारत की 19वीं सदी के उन पण्डितों में से थे जिन्होने अंग्रेजों के लिये हिमालय के क्षेत्रों की खोजबीन की थी।

बता दें कि उन्होने ही सबसे पहले ल्हासा की स्थिति तथा ऊँचाई ज्ञात की और तिब्बत से बहने वाली मुख्य नदी त्सांगपो (Tsangpo) के बहुत बड़े भाग का मानचित्रण भी किया। जिसमें नेपाल होते हुए तिब्बत तक के व्यापारिक रास्तो का मानचित्रण भी मुख्य रूप से शामिल है।

इसे भी पढें: गूगल ने स्पेशल डूडल बना सेलेना क्विंटानाइल की लाइफ को किया सेलिब्रेट

ब्रिटिश राज में सर्वे आफ इंडिया ने दस अप्रैल 1802 को ग्रेट ट्रिगोनोमैट्रिकल सर्वे (Great Trigonometrical Survey) (जीएसटी) की शुरुआत की थी। इस सर्वे का उद्देश्य भारतीय उपमहाद्वीप के अलावा मध्य एशिया और महान हिमालय का मानचित्र तैयार करना था।

इसके कुछ वर्षों बाद 1830 में रॉयल जियोग्राफिकल सोसाइटी (Royal Geographical Society) की भी स्थापना हुई थी। तब तिब्बत ब्रिटेन के लिये एक रहस्य ही बना हुआ था और वह जीएसटी के जरिये इसका मानचित्र तैयार करना चाहता था। इस मानचित्र को विकसित करना इन्हे के महान कार्यों में से एक हैं।

इसे भी पढें: गूगल मना रहा है इस नोबेल शांति पुरस्कार विजेता का स्पेशल वर्थ-डे

इन्ही की देन है कि भारत तिब्बत से जुड़ा है और तिब्बत धर्म गुरू दलाईलामा भारत की यात्रा पर अधिकतर आते रहते है।

Loading...
Share it
Top