Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

इस ''संपादकीय- लेख'' की वजह से गौरी लंकेश को मारी गई गोली!

13 सितंबर को इस पत्रिका का आखरी अंक साबित हुआ।

इस
इस झूठ में ये लिखा था कि कर्नाटक सरकार जहां बोलेगी वहीं गणेश जी की प्रतिमा स्थापित करनी है और उसके पहले दस लाख रुपए डिपॉजिट करना होगा।
मूर्ती की ऊंचाई कितनी होगी उसके लिए सरकार से अनुमति लेनी होगी, दूसरे धर्म के लोग जहां रहते हैं उन रास्तों से विसर्जन के लिए नहीं ले जा सकते। पटाखे नहीं फोड़ सकते।
लंकेश ने लिखा कि ये झूठ इतना ज़ोर से फैल गया कि अंत में कर्नाटक के पुलिस प्रमुख आर के दत्ता को प्रेस बुलानी पड़ी और सफाई देनी पड़ी कि सरकार ने ऐसा कोई नियम नहीं बनाया है, ये सब झूठ है।
उन्होंने लिखा कि यह सब पोस्टकार्ड डॉट न्यूज नाम की वेबसाइट ने लिखा था। यह वेबसाइट फेक न्यूज बनाकर सोशल मीडिया पर डालती है।
उन्होंने लिखा कि 11 अगस्त को इसी वेबसाइट ने कर्नाटक में तालिबान सरकार है हैडिंग नाम से एक खबर लगाई थी जिसके सहारे राज्यभर में झूठ फैलाया गया जिसमें संघ कामयाब रही।
Next Story
Share it
Top