Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

खुलासा: रोहिंग्या मुस्लिम महिलाओं के साथ हुआ गैंगरेप- रिपोर्ट

म्यांमार से बांग्लादेश में शरण लिए हुए रोहिंग्या महिला शरणार्थी को लेकर संयुक्त राष्ट्र जांच दल के डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों ने एक बड़ा खुलासा किया है।

खुलासा: रोहिंग्या मुस्लिम महिलाओं के साथ हुआ गैंगरेप- रिपोर्ट

म्यांमार से बांग्लादेश में शरण लिए हुए रोहिंग्या महिला शरणार्थी को लेकर संयुक्त राष्ट्र जांच दल के डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों ने एक बड़ा खुलासा किया है।

डॉक्टरों ने कैंप में महिलाओं की मेडिकल जांच के बाद इनके साथ रेप की पुष्टि की है। न्यूज एजेंसी रायटर के अनुसार संयुक्त राष्ट्र जांच दल की टीम का कहना है कि कैंप में रह रही रोहिंग्या महिला शरणार्थियों ने उनकी टीम को बताया कि म्यांमार में सैनिकों ने उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया है।

लेकिन म्यांमार ने इन आरोपों को झूठा बताते हुए कहा है कि ये उन्हें बदनाम करने की साजिश है।

यह भी पढ़ें- रोहिंग्या मुसलमान मामला : जानिए क्या है पूरा विवाद

इस मामले पर म्यांमार की नेता आंग सांग सू की प्रवक्ता जौ हिटे का कहना है कि ऐसे सभी आरोपों की उनके द्वारा जांच कराई जा रही है। यदि किसी महिला के साथ रेप हुआ है तो वह सामने आए, सरकार द्वारा उसकी निष्पक्ष जांच कराई जाएगी।

संयुक्त राष्ट्र जांच दल की स्वास्थ्य टीम द्वारा बनाई गई एक रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि रोगिंग्या महिलाओं के ऊपर अत्याचार किया है, उनके शरीर पर चोट के निशान भी है।

यह भी पढ़ें- रोहिंग्या मसले पर म्यांमार, बांग्लादेश की मानवीय आधार पर मदद करेगा भारत

संयुक्त राष्ट्र जांच दल द्वारा पेश की गई रिपोर्ट में एक महिला शरणार्थी ने अपना दर्द बयान करते हुए कहा है कि मैं लगातार तीन दिन तक चल कर अपनी 6 साल की मासूम बच्ची के साथ बांग्लादेश के शरणार्थी कैंप में पहुंची हूं।

म्यांमार में मेरे साथ सैनिकों द्वारा बर्बरतापूर्वक दुष्कर्म किया गया। साथ ही पीड़ित महिला ने बताया कि उसे नहीं मालूम कि उससे बिछड़े उसके तीन बच्चे और पति कहां और किस हाल में हैं।

यह भी पढ़ें- रोहिंग्या को रोकने के लिए बीएसएफ के जवान ले रहे हैं स्थानीय जानकारी की सहायता

संयुक्त राष्ट्र जांच दल की टीम ने कैंप में रह रही महिलाओं और शरणार्थियों से पूछताछ और मेडिकल चेकअप के बाद एक रिपोर्ट तैयार की है।

जिस रिपोर्ट के अनुसार म्यांमार में हुई हिंसा में 25 अगस्त को महिलाओं पर काफी अत्याचार हुए थे, जिसके बाद बड़ी संख्या में महिलाओं के साथ गैंगरेप के मामले सामने आए हैं। म्यांमार में हिंसा के बाद लगभग 429,000 रोहिंग्या मुसलमान भागकर बांग्लादेश आ गए थे।

Next Story
Top