Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महात्‍मा गांधी के पोते कनु गांधी का निधन, रह गई आखिरी इच्छा

अमेरिका के नासा में करीब 25 साल तक वैज्ञानिक रहे कनुभाई गांधी

महात्‍मा गांधी के पोते कनु गांधी का निधन, रह गई आखिरी इच्छा
नई दि्ल्ली. राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी के पोते कनु गांधी का सोमवार रात दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। कनुभाई लंबे समय से सूरत के अस्‍पताल में भर्ती थे। कनु रामदास गांधी नासा में वैज्ञानिक भी रह चुके हैं। बता दें कि सूरत के अस्पताल में वेन्टीलेटर पर हैं गांधी जी के पोते कनुभाईकनु गांधी लंबे समय से बीमार थे। लेकिन आखिकार उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।
मीडिया में खबर आने के बाद उन्हें अहमदाबाद के गांधी आश्रम में लाया गया था। यहां भी वो दर दर भटकते रहे। उन्हें कई राजनेताओं ने भी मदद करने का भी भरोसा दिया लेकिन किसी ने उनकी मदद नहीं की। और पैसे की तंगी की वजह से उनका ठीक से इलाज भी नहीं पाया। आपको कि कनुभाई गांधी पिछले कई दिनों से सूरत के अस्पताल में वेंटीलेटर पर थे। कनुभाई गांधी को दिल का दौरा पड़ने और लकवा मारने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कनुभाई के निधन पर दुख जताया।
अमेरिका के नासा में करीब 25 साल तक वैज्ञानिक रहे कनुभाई कुछ वर्ष पूर्व ही पत्नी शिवालक्ष्मी के साथ भारत लौटे थे। काफी समय से अस्वस्थ चल रहे थे। उनकी अंतिम इच्छा अहमदाबाद के साबरमती आश्रम में आखरी सांस लेने की थी जो पूरी नहीं हो पाई। परिवार में अब केवल उनकी 90 वर्षीय पत्नी रह गईं जो अनेक रोगों से पीड़ित हैं। उनकी कोई संतान नहीं थी। कनुभाई गांधी महात्मा गांधी के साथ दांडी यात्रा में भी गए थे। दांडी यात्रा की एक तस्वीर काफी प्रचलित है जिसमें महात्मा गांधी जी के पीछे एक छोटा सा बच्चा दिखाई देता है, रिपोर्ट्स है कि वह छोटा बच्चा कनुभाई गांधी ही थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top