Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

VIDEO: गांधी जयंती पर 124 देशों में गूंजा बापू का भजन ''वैष्णव जन तो तेने कहिए''.........

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर दुनिया के 124 देशों के टॉप गायकों ने बापू को अनोखी श्रद्धांजलि दी है। महात्मा गांधी का प्रिय भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ को 124 राष्ट्रों के कलाकारों ने अपनी आवाज दी।

VIDEO: गांधी जयंती पर 124 देशों में गूंजा बापू का भजन

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर दुनिया के 124 देशों के टॉप गायकों ने बापू को अनोखी श्रद्धांजलि दी है। महात्मा गांधी का प्रिय भजन ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ को 124 राष्ट्रों के कलाकारों ने अपनी आवाज दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को राष्ट्रपति भवन में अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन के दौरान इसका वीडियो लॉन्च किया। विदेश मंत्रालय (एमईए) ने एक बयान में कहा कि पीएम मोदी ने पूरी दुनिया के संगीत कलाकारों से आग्रह किया था कि वह अपनी आवाज में और अपने देश के बैकड्राप में भजन शूट कर भेजें।

5 मिनट 36 सेकंड के इस वीडियो में पाकिस्तान समेत 124 देश के कलाकार शामिल हैं। पाकिस्तान की ओर से शफाकत अमानत अली ने अपनी आवाज दी है।

इसके अलावा आर्मेनिया, अंगोला, श्रीलंका, सर्बिया से लेकर ईराक और आयरलैंड तक जैसे देशों के कई प्रसिद्ध गायकों ने ‘वैष्णव जन तो तेने कहिए’ को अपनी आवाज दी है और उसकी रिकार्डिग अपने देश के किसी प्रसिद्ध स्थल के बैकड्राप या झंडे के साथ की है।

इसे भी पढ़ें- Gandhi Jayanti 2018: एक आदर्श पिता नहीं थे राष्ट्रपिता, जानिए विद्वानों की राय

विदेश मंत्रालय के अनुसार पीएम ने 40 से ज्यादा देशों के कलाकारों द्वारा प्रसिद्ध भजनों का मेडले संस्करण जारी किया। इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, पेयजल और स्वच्छता मामलों की मंत्री उमा भारती और अन्य गण्यमान्य लोग मौजूद थे।

मोदी के चार मंत्र

गांधी जयंती के अवसर पर राष्ट्रपति भवन में अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलन का आयोजन किया गया। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत अभियान दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित कार्यक्रम बन चुका है।

पीएम मोदी ने स्वच्छता के लिए चार मंत्र-फोर पी दिया। उन्होंने कहा कि चार दिवसीय समारोह में स्वच्छता के चार पी पब्लिक फंडिंग, पॉलिटिकल लीडरशिप, पार्टनरशिप और पीपुल्स पार्टिसिपेशन को मान्यता दी गई है। स्वच्छता में ये चार मंत्रों अहम हैं।

उन्होंने कहा कि अभी हमारा काम बाकी है। बापू के 150वीं जयंती पर हम सब स्वच्छता को लेकर उनका सपना पूरा कर के रहेंगे।

Share it
Top