Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भारत और फ्रांस के क बीच शिक्षा, रक्षा, अंतरिक्ष को लेकर 14 समझौतों पर हुए हस्ताक्षर

भारत और फ्रांस ने कुल 14 मुद्दो पर किया समझौता शिक्षा, तकनीक, रक्षा, अंतरिक्ष जैसे महत्तवपूर्ण मुद्दों पर परस्पर सहयोग को लेकर किए हस्ताक्षर

भारत और फ्रांस के क बीच शिक्षा, रक्षा, अंतरिक्ष को लेकर 14 समझौतों पर हुए हस्ताक्षर
X
भारत ने आज फ्रांस के साथ मिलकर कुल 14 मुद्दो पर परस्पर सहयोग को लेकर हस्ताक्षर किए है। दोनो देशों के बीच शिक्षा, तकनीक, अंतरीक्ष, रक्षा जैसे अहम मुद्दो पर हस्ताक्षर हुए है।
अपने साझा बयान में फ्रांस के राष्ट्रपति मैंक्रो ने कहा कि आतंकवाद को लेकर दोनो देश का आपसी सहयोग काफी महत्तवपूर्ण हैं। आगे उन्होंने कहा कि आतंकी फंडिंग और चरमपंथियो से मिलकर लड़ेगें। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम समृद्ध और विकास के उत्तराधिकारी है।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि फ्रांस और भारत के नौजवानों को एक-दूसरे के देशों के बारे में ओर अधिक जान सके इसको लेकर भारत ने फ्रांस के साथ दो समझौतो पर हस्ताक्षर किए है। सरकार किसी की भी दोनो देशो के रिश्ते मजबूत रहे हैं।
फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन को राष्ट्रपति भवन में गॅार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। गॅार्ड ऑफ ऑनर के दौरान फ्रेंच राष्ट्रपति अपनी पत्नी ब्रिगिट मैक्रोन के साथ मौजूद थे।
भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी पत्नी सवीता कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ गॅार्ड ऑफ ऑनर के दौरान राष्ट्रपति भवन में मौजूद थे।
इसके बाद मीडिया को संबोधित करते हुए फ्रैंच राष्ट्रपति मैक्रोन प्रधानमंत्री मोदी के लिए कहा कि मुझे लगता है कि हम दोनों के बीच बहुत अच्छी कैमस्ट्री हैं। वही आगे फैंच राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और फ्रांस जैसे विशाल लोकतंत्र के बीच ऐतिहासिक संबंध है।
गार्ड ऑफ ऑनर मिलने के बाद फ्रेंच राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन अपनी पत्नी के साथ महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट पहुंचे। फ्रेंच राष्ट्रपति और उनकी पत्नी ने महात्मा को श्रद्धासुमन अर्पित किए और राजघाट की सैर की।
आपको बता दें कि फ्रांस के राष्ट्रपति एमानुएल मैक्रोन चार दिन की यात्रा पर आज रात भारत पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हवाईअड्डे पर उनकी अगवानी की। मैक्रोन के साथ उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड मैक्रोन के अलावा उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री आये हैं।
उनकी इस यात्रा के दौरान दोनों देश विभिन्न क्षेत्रों, खासकर समुद्री सुरक्षा तथा आतंकवाद से निपटने के क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत बनाने पर विशेष रूप से गौर करेंगे।
सूत्रों ने यहां कहा कि इस दौरान फ्रांस के सहयोग से बन रहे जैतापुर (महाराष्ट्र) परमाणु बिजली संयंत्र को लेकर भी समझौते पर हस्ताक्षर की उम्मीद है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैक्रोन के बीच कल प्रतिनिधि स्तर की बातचीत में हिंद महासागर में सहयोग बढ़ाने का मुद्दा प्राथमिकता पर लिया जा सकता है।
संयुक्त सचिव (यूरोप पश्चिम) के नागराज नायडू ने संवाददाताओं से कहा कि फ्रांस विशेष रूप से दक्षिण एशिया में आतंकवाद को लेकर भारत के नजरिये का समर्थन करता है। हम नये क्षेत्रों खासकर समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद निरोधक उपाय तथा अक्षय ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में दोनों की बढ़ती सहमति देख रहे हैं।
इसके अलावा भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक भागीदारी में रक्षा, परमाणु ऊर्जा तथा अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग का मामला शामिल हैं। नायडू ने कहा कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत और फ्रांस के बीच एक परिपक्व गठजोड़ है और हम इसे नये स्तर ले जाना पसंद करेंगे।
भारत और फ्रांस के बीच अंतरिक्ष के क्षेत्र में सहयोग पांच दशक से भी पुराना है। परंपरागत क्षेत्रों के अलावा अक्षय ऊर्जा, उच्च गति वाली ट्रेन और व्यापार में सहयोग बढ़ाने पर भी जोर होगा। मोदी के साथ कल प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद मैक्रोन विद्यार्थियों के साथ एक खुली चर्चा में शामिल होंगे।
इसमें विभिन्न स्तर के करीब 300 छात्रों के भाग लेने की उम्मीद है। उसी दिन वह ज्ञान सम्मेलन में भी भाग लेंगे। इसमें दोनों पक्षों के 200 से अधिक शिक्षाविद शामिल होंगे। इस यात्रा के दौरान राष्ट्रपति मैक्रोन अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) के शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story