Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

करीब चार लाख लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी : केंद्र सरकार

सब्सिडी छोड़ने वालों में कई पूर्व एवं वर्तमान मुख्यमंत्री, संसद सदस्य और उद्योगपति शामिल हैं।

करीब चार लाख लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ी : केंद्र सरकार

नई दिल्ली. पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने गरुवार को एलपीजी सिलेंडर सब्सिडी के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि तीन लाख नब्बे हजार लोगों ने इसे त्याग दिया है। सब्सिडी छोड़ने वालों में कई पूर्व एवं वर्तमान मुख्यमंत्री, संसद सदस्य और उद्योगपति शामिल हैं।

फोर्ब्स की वैश्विक सूची में भारत की 11 कंपनियों का बोलबाला, SBI टॉप पर

बिजनेल स्टैंडर्ड के मुताबिक धर्मेन्द्र प्रधान ने आज राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि 27 मार्च 2015 को नई दिल्ली में आयोजित 'ऊर्जा संगम 2015Ó नामक ऊर्जा सभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'राजसहायता छोड़ें' अभियान की शुरुआत की थी जिसमें उन्होंने साधन संपन्न लोगों से अपील की थी वे लोग राज सहायता त्याग दें। ताकि ताकि गरीबों के कल्याण में मदद की जा सके।

जानिए क्या है GST, किसका फायदा किसका नुुकसान!

प्रधान ने बताया कि इस अपील के बाद से करीब तीन लाख 90 हजार लोगों ने राजसहायता त्याग दी है जिनमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण, कई राज्यों के मुख्यमंत्री, संसद सदस्य, उद्योगपतियों से लेकर सामान्य लोग तक शामिल हैं। प्रधान ने अगे बताया कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत एक साल के दौरान 20 रुपये से अधिक कम की गई है। कीमतों में ये गिरावट अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत घटने के कारण हुई है।
पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत के बारे में पूर्ववर्ती सरकार की नीतियों को जारी रखा गया है। प्रधान ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत घटने के कारण देश में पेट्रोल की कीमत घटा कर उपभोक्ताओं को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई, साथ ही गरीबों के कल्याण के लिए राशि भी जुटाई गई।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, अन्य जानकारी
-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top