Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ट्रैवल बैन को हटाने का अनुरोध लेकर अदालत पहुंचे ISI के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) असद दुर्रानी ने सरकार द्वारा उनपर लगे यात्रा प्रतिबंध को हटाने का अनुरोध करते हुए सोमवार को हाईकोर्ट में अर्जी दी है। दुर्रानी ने अपने भारतीय समकक्ष रॉ के पूर्व प्रमुख ए. एस. दौलत के साथ मिलकर ‘द स्पाई क्रॉनिकल्स'' नामक एक किताब लिखी है।

ट्रैवल बैन को हटाने का अनुरोध लेकर अदालत पहुंचे ISI के पूर्व प्रमुख असद दुर्रानी

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के पूर्व प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) असद दुर्रानी ने सरकार द्वारा उनपर लगे यात्रा प्रतिबंध को हटाने का अनुरोध करते हुए सोमवार को हाईकोर्ट में अर्जी दी है। दुर्रानी ने अपने भारतीय समकक्ष रॉ के पूर्व प्रमुख ए. एस. दौलत के साथ मिलकर ‘द स्पाई क्रॉनिकल्स' नामक एक किताब लिखी है।

गौरतलब है कि इस किताब में अपने रूख पर सफाई देने के लिए दुर्रानी मई में रावलपिंडी स्थित पाकिस्तान के सैन्य मुख्यालय के समक्ष पेश हुए थे। इसके एक दिन बाद ही सरकार ने उनका नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में डाल दिया।
इस किताब में दोनों देशों की खुफिया एजेंसियों के प्रमुखों ने आतंकवाद, खास तौर से मुंबई हमला, सर्जिकल स्ट्राइक, कुलभूषण जाधव, कश्मीर और खुफिया एजेंसियों के प्रभाव जैसे संवेदनशील मुद्दों पर लिखा है।

दुर्रानी ने इस किताब में खुलासा किया है कि परमाणु हथियारों से लैस पड़ोसियों के बीच युद्ध ना हो यह सुनिश्चित करने के लिए ट्रैक-टू कूटनीति काम कर रही है।
द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के अनुसार, अपनी अर्जी में दुर्रानी ने कहा है कि वह सिर्फ अपने पेशेवर वादों को पूरा करने और विदेशों में रहने वाले बच्चों से मिलने के लिए यात्रा करना चाहते हैं। ईसीएल में जिस व्यक्ति का नाम शामिल होता है, उसे विदेश यात्रा की अनुमति नहीं होती है।
दुर्रानी ने यह भी कहा कि उनके या उनकी पत्नी के पास किसी अन्य देश की नागरिकता नहीं है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top