logo
Breaking

पनामा पेपर्स मामला: पूर्व आईपीएल चेयरमैन की 10 करोड़ की संपत्ति जब्त

जांच में पता चला कि अमीन ने व्हाइटफील्ड केमटेक प्राइवेट लिमिटेड के जरिए ब्रिटेन के कैंपडेन हिल में 16 लाख डॉलर में एक अपार्टमेंट खरीदा था।

पनामा पेपर्स मामला: पूर्व आईपीएल चेयरमैन की 10 करोड़ की संपत्ति जब्त

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कारोबारी और पूर्व आईपीएल चेयरमैन चिरायु अमीन के नियंत्रण वाली कंपनी के 10.35 करोड़ रुपए के म्यूचुअल फंड को फेमा कानून के तहत जब्त किया है। यह कार्रवाई पनामा पेपर्स मामले में की गई है।

केंद्रीय जांच एजेंसी ने कहा कि उसने व्हाइटफील्ड केमटेक प्राइवेट लिमिटेड के म्यूचुअल फंड जब्त किए हैं। यह कंपनी उनके और उनके परिवार के नियंत्रण वाली है।

यह कार्रवाई विदेशी विनिमय प्रबंधन कानून (फेमा) की धारा 37ए के तहत की गई है। बयान में कहा गया है कि अमीन और उनके परिवार के सदस्यों के नाम ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में कंपनी में उनकी हिस्सेदारी को लेकर आया था।

इसे भी पढ़ें- पनामा के बाद पैराडाइज पेपर्स ने मचाई खलबली, भारत समेत दुनियाभर की बड़ी हस्तियां लपेटे में

एजेंसी ने कहा कि जांच के दौरान अमीन और उनके परिवार ने व्हाइटफील्ड केमटेक प्राइवेट लिमिटेड के जरिए ब्रिटेन के कैंपडेन हिल में तीन बीएचके का अपार्टमेंट 16 लाख डॉलर में खरीदा।

ब्रिटेन में इस संपत्ति की खरीद के लिए कंपनी ने सिंगापुर में अपनी अनुषंगी में 24 लाख डॉलर प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के रूप में स्थानांतरित किए।

ईडी ने कहा कि बाद में इस राशि को कंपनी की अनुषंगी को यूएई और ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में स्थानांतरित किए। बाद में वहां से 16 लाख डॉलर का इस्तेमाल इस संपत्ति की खरीद के लिए किया गया।

क्या है कानून

फेमा की धारा 37ए के तहत यदि एक निश्चित मात्रा में विदेशी मुद्रा, विदेशी प्रतिभूति और अचल संपत्ति देश के बाहर इस कानून का उल्लंघन कर रखी जाती है तो भारत में उतने की मूल्य की संपत्ति को जब्त किया जाएगा।

इसी के अनुरूप देश में कंपनी के 10.35 करोड़ रुपए मूल्य के म्यूचुअल फंड को जब्त किया गया है।

Loading...
Share it
Top