Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''भाषण में मां-बाप को लाना PM को शोभा नहीं देता''

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने पीएम मोदी के द्वारा राजनीति में निजी बयानबाजियों पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने पीएम मोदी के द्वारा राजनीति में निजी बयानबाजियों पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

फारूक अब्दुल्ला ने पीएम मोदी द्वारा दिए गए निजी बयानों को लेकर हमलावर होते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि मेरी मां को गाली दी, मेरे पिता का नाम राजनीति में घसीट लिया, क्या यह प्रधानमंत्री को शोभा देता है?

मैंने कभी अपने माता-पिता का अपनी बातों में इस्तेमाल नहीं किया। इस देश का पीएम होने के नाते पीएम मोदी को थोड़ा बड़ा सोचना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि नेहरू ने इस देश के लिए क्या योगदान दिया, वे योगदान को भुलाकर स्तर को और नीचे ले गए हैं।

इंदिरा गांधी ने इस देश के लिए अपनी जान दे दी। क्या राजीव गांधी समेत कई अन्य प्रधानमंत्रियों ने इस देश को बनाने के लिए पूरा समय नहीं दिया? अगर हम यहां बैठे हैं को उनकी की ही वजह से हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी ने मुझे बताया कि जब उन्होंने अपना पहला भाषण दिया, तो नेहरू उनके पास गए और कहा कि आप एक दिन इस देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। वह आरएसएस पृष्ठभूमि से थे, उन्होंने यह महसूस किया कि इस देश को एक द्वारा नहीं बनाया जा सकता है। इस देश को जिन्होंने इसे अतीत में बनाया है उन्हें भुलाया नहीं जा सकता है।

फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि मैं जिस प्वाइंट पर कांग्रेस के खिलाफ हूं वह यह कि उन्हें अटल बिहारी वाजपेयी को भारत रत्न तब देना चाहिए था जब वह स्वस्थ और जिन्दा थे।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि फारूक अब्दुल्ला ने यह सारी बातें मनीष तिवारी की पुस्तक 'फेबल्स ऑफ फ्रैक्चर्ड टाइम्स' के विमोचन के मौके पर कही। इस दौरान पूर्व पीएम मनमोहन सिंह भी मौजूद थे।

Share it
Top