Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CBSE के पूर्व अधिकारी का बोर्ड पर हमला- प्रश्न पत्रों के वैकल्पिक सेट लीक से बचा सकते थे

सीबीएसई के पूर्व अध्यक्ष ने पेपर लीक मामले से गलत तरीके से निपटने को लेकर आज बोर्ड पर जोरदार हमला बोला।

CBSE के पूर्व अधिकारी का बोर्ड पर हमला- प्रश्न पत्रों के वैकल्पिक सेट लीक से बचा सकते थे
X

सीबीएसई के पूर्व अध्यक्ष अशोक गांगुली ने पेपर लीक मामले से गलत तरीके से निपटने को लेकर आज बोर्ड पर जोरदार हमला बोला और कहा कि इस साल से प्रश्न पत्र का एक सेट तैयार करने के फैसले ने छात्रों और बोर्ड का भला कम किया और उनका नुकसान ज्यादा किया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जेएल गुप्ता हाल तक सीबीएसई के साथ करीब से जुड़े हुए थे। उन्होंने भी बोर्ड के कामकाज की आलोचना की है और कहा कि प्रश्न पत्र के वैकल्पिक सेट बोर्ड को मौजूदा संकट से बचा सकते थे। दोनों को लगता है कि बोर्ड को और अधिक सक्षम होने की जरूरत है क्योंकि‘ संतोष' के अभास ने इसके कामकाज को पंगु बना दिया है।
2008 तक आठ साल तक बोर्ड के अध्यक्ष रहे गांगुली ने कहा, ‘‘जब आप इस तरह की बड़ी परीक्षा का प्रबंधन करते हैं तो आपके पास प्लान बी और प्लान सी तैयार रहना चाहिए था। (पर्चों का) लीक होना और दो पेपरों की पुन: परीक्षा की तारीखों का ऐलान करने में देरी बताती है कि ऐसी कोई योजना तैयार नहीं थी।'
प्रोफेसर गुप्ता ने कहा कि ऐसी स्थितियों से प्रभावी तरीके से निपटने के लिए सीबीएसई को प्रश्न पत्रों के वैकल्पिक सेट तैयार करने चाहिए थे।
गुप्ता ने पहले की किसी प्रवेश परीक्षा की एक घटना के बारे में बताया कि लीक खबरें मिलने के बाद वैकल्पिक प्रश्न पत्रों ने इम्तिहान को रद्द होने से बचा लिया था।
उन्होने कहा, सीबीएसई ने इस साल से सभी क्षेत्रों के लिए समग्र प्रश्न पत्र जारी किए थे। इस वजह से अगर एक क्षेत्र से पर्चा लीक होने की खबर आती है तो यह सभी क्षेत्रों को जोखिम में डालती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story