Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Modi In China: विदेश सचिव ने कहा, सीमा विवाद को सुलझाने को लेकर दोनों देशों ने जताई सहमति

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन दौरे को लेकर विदेश सचिव विजय गोखले ने मीडिया के बात की उन्होंने मीडिया को बताया कि दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को लेकर चल रहे गतिरोध को दूर करने के लिए दोनों ही देशों के नेताओं ने सहमति जताई हैं।

Modi In China: विदेश सचिव ने कहा, सीमा विवाद को सुलझाने को लेकर दोनों देशों ने जताई सहमति
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चीन दौरे को लेकर विदेश सचिव विजय गोखले ने मीडिया के बात की उन्होंने मीडिया को बताया कि दोनों देशों के बीज सीमा विवाद को लेकर चल रहे गतिरोध को दूर करने के लिए दोनों ही देशों के नेता शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आपसी सहमती से एक ऐसा रास्ता निकालने पर सहमति जताई हैं।

दोनों ही नेताओं ने इस बात पर हामी भरी है कि कोई ऐसा रास्ता निकाला जाए की जिससे की दोनों ही देशों के हितों को ध्यान में रखते हुए कोई बीच का रास्ता निकाला जांए।

आपको बता दें कि पिछले साल ही डोकलाम में सीमा विवाद को लेकर दोनो देशों की सेनाएं एक-दूसरे के सामने आ गई थी। जिसके बाद से ही दोनों देशों के संबंधों में खटास पैदा हो गई थी। जिसे लेकर अब दोनो ही देशों के राष्ट्रअध्यक्षों ने इस मसले को सुलझाने की सहमति जताई हैं।

ये भी पढ़ेःदर्दनाक हादसा! खड़े ट्रक में घुसी मैजिक, दो महिलाओं समेत 12 लोगों की मौत

यही नहीं विदेश सचिव ने प्रधानमंत्री मोदी के चीन दौरे को लेकर मीडिया से जानकारी सांझा करते हुए कहा कि दोनों ही देश केवल सीमा विवाद को सुलझाने के लिए सकारात्मक कदम ऊठाने के लिए तैयार है। इसके अलावा पीएम मोदी और शीजिनपिंग दोनों ही भारत-चीन सीमा पर शांति के पक्षकर भी है।

विदेश सचिव ने बताया कि जिसे लेकर दोनों ही देशों ने इस बात का फैसला किया हैं कि अपनी-अपनी सेनाओं को भारत-चीन सीमा पर शांति बहाली को लेकर विशेष दिशा-निर्देश जारी करेंगे। जिससे की भारत-चीन सीमा पर दोनों ही देशों के बीच किसी विवाद के चलते किसी भी प्रकार का कोई विवाद ना पैदा हो सके।

विदेश सचिव ने बताया कि इसके अलावा दोनों ही देशों ने आतंकवाद को लेकर अपनी चिंता जाहिर की हैं। यहीं नहीं दोनों देशों ने एक स्वर में ही आतंकवाद की कड़ी निन्दा भी की ही।

ये भी पढ़ेःमंदिर में की गई पादरियों के धर्मांतरण की कोशिश, जबरन लगाई गई माथे पर राख, लगाए भारत माता की जय के नारे

यहीं नहीं विदेश सचिव ने बताया कि दोनों ही देशों ने आतंकवाद से लड़ने के लिए एक-दूसरे का हर संभव मदद का भी आश्वासन भी दिया है। आपको बता दें कि भारत हमेशा से ही पाकिस्तान के खिलाफ आतंकवाद को लेकर अपनी आवाज बुलंद करता रहा हैं।

PM and President Xi also recognised the common threat posed by terrorism both reiterated their strong condemnation of a resolute opposition to terrorism in all its forms and manifestations. Both committed to cooperate further in counter-terrorism: Foreign Secretary Vijay Gokhale pic.twitter.com/zWjpfkhnYN

यहीं नहीं भारत कई अंतराष्ट्रीय मंचो पर पाकिस्तान के आतंकवाद समर्थक देश होने के सबूत भी समय-समय पर देता रहा हैं।

चीन में भारतीय फिल्मों के प्रचार के साथ-साथ दोनों देशों के बीच एक-दूसरे देशों की फिल्मों की रीलिज को लेकर भी सहमति बनी हैं। विदेश सचिव ने बताया कि चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि उन्होंने खुद बहुत सी भारतीय फिल्में भी देखी हैं।

चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि दोनों देशों के बीच फिल्मों और मनोरंजन के जरिए दोनों देशों के संबंध में और सुधार आएगा जो कि एक बढ़िया तरीका हैं।

विदेश सचिव ने बताया कि चीनी राष्ट्रपति ने इस बात की हामी भरी की चीन में और भी अधिक भारतीय फिल्में रीलिज होनी चाहिए और इसी तरह से चीनी फिल्में भी भारत में रीलिज होनी चाहिए।

आपको बता दें कि बॅालीवुड एक्टर आमिर खान की मूवी दंगल ने चीन में रीलीज होते ही काफी अच्छा बिजनैस किया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story