Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

फुटपाथ वेंडरों के पास मिली 50 करोड़ की ब्लैक मनी

मुंबई के ठेले, खोमचे और रेहड़ी वालों ने अपनी करोड़ो रुपए की ब्‍लैक मनी का खुलासा किया है।

फुटपाथ वेंडरों के पास मिली 50 करोड़ की ब्लैक मनी
मुंबई. कालेधन की अगर बात आए, तो रईसों, सेठों और बड़ी कॉरपोरेट हस्तियों का ख्‍याल ही जहन में उभरता है, पर आपको जानकर आश्‍चर्य होगा कि सड़क किनारे फुटपाथ पर रोजी-रोटी कमाने वाले भी ब्‍लैक मनी जुटाने में पीछे नहीं। तभी तो 30 सितंबर को खत्‍म हुई सरकार की इनकम डिक्लेयरेशन स्कीम 2016 (आइडीएस) के तहत मुंबई के ठेले, खोमचे और रेहड़ी वालों ने अपनी करोड़ो रुपए की ब्‍लैक मनी का खुलासा किया है। आइडीएस में रोडपति भी करोड़पति के रूप में सामने आ रहे हैं।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि देश में काला धन छुपाने वाले करीब 64 हजार लोग हैं। जेटली के इस खुलासे के बाद सरकार की इनकम डेक्लेयरेशन स्कीम के तहत ऐसे लोग भी सामने आ रहे हैं जो फुटपाथ पर कारोबार करते हैं, लेकिन हैं करोड़पति। आयकर विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मुंबई में फुटपाथ दुकानदारों ने आइडीएस के तहत करीब 50 करोड़ रुपए के कालेधन की घोषणा की है।
आपको बता दें, आइडीएस के तहत कालेधन का खुलासा करने का 30 सितंबर आखिरी दिन होने के चलते देशभर में आयकर विभाग के दफ्तर रात 12 बजे तक खुले रहे थे। इसका फायदा भी देखने को मिला, जब स्‍कीम के आखिरी दिन विभाग को अंतिम घंटों के दौरान आइडीएस के तहत 45 फीसदी कर चुका कर अघोषित संपत्ति को वैध करने के लिए बड़ी संख्‍या में आवेदन प्राप्‍त हुए। स्‍कीम खत्‍म होने के बाद कालेधन पर शिकंजा कसने के डर से मुंबई में रेहड़ी, खोमचे वालों ने भी आखिरी दिन कई आवेदन दिए।
दरअसल, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने एक सप्ताह पहले पूरे देश में फुटपाथ वेंडरों पर छापे मारे थे जिसके बाद वेंडरों ने अपनी अघोषित आय की जानकारी जाहिर की। इस छापे के बाद खुलासा हुआ कि ब्लैक मनी की घोषणा करने वाले फुटपाथ वेंडरों को 22.5 करोड़ रुपए टैक्स के तौर पर देने होंगे। पिछले दो सप्ताह में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ठाणे में एक मशहूर बडा पाव सेंटर, घाटकोपर का नामी डोसा सेंटर और अंधेरी के फेमस सैंडविच सेंटर और दक्षिण मुंबई में एक जलेबीवाला समेत करीब 200 फुटपाथ वेंडरों पर छापे मारे थे।
सूत्रों के मुताबिक आइडीएस के तहत घाटकोपर में जूस बेचने वाले एक वेंडर ने 5 करोड़ रुपए कैश और जमीन के दस्तवेजों की जानकारी दी। कुछ अन्य वेंडरों ने 25 लाख से 2 करोड़ रुपए तक की ब्लैक मनी की घोषणा की। आइडीएस के तहत गुरुवार रात तक करीब 40 हजार करोड़ रुपए की ब्लैक मनी की घोषणा हो चुकी थी। इसमें से अकेले मुंबई, ठाणे और नवी मुंबई से ही 5 हजार करोड़ के ब्लैक मनी की घोषणा हुई।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top