Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

ममता बनर्जी की हत्या के लिए दी गई 65 लाख की सुपारी, CID जांच शुरू

पश्चिम बंगाल की तेज तर्ररा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की जान को खतरा है। इसके बाद सीएम की सुरक्षा और बढ़ाई गई है।

ममता बनर्जी की हत्या के लिए दी गई 65 लाख की सुपारी, CID जांच शुरू

पश्चिम बंगाल की तेज तर्ररा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की जान को खतरा है। इसका अंदाजा इसी बता से लगाया जा सकता है कि उनकी हत्या के लिए 65 लाख रुपये की सुपारी दी गई है। पुलिस ने मामले की संजीदगी को देखते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक ममता बनर्जी की हत्या को मैसेज व्हाट्सऐप के जरिए भेजा गया है। यह मैसेज बेहरमपुर में एक छात्र को व्हाट्सऐप पर मिला है। मैसेज मिलते ही छात्र ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई तो हड़कंप मच गया। इस वाकये के बाद सीएम ममता की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

यह भी पढ़ें: संघ का राहुल पर निशाना, 'कुछ लोग पुरुषों की टीम में महिलाओं को खोजते हैं'

जांच में पता चला है कि यह मैसेज अमेरिका के फ्लोरिडा में रह रहे एक छात्र के फोन नंबर से भेजा गया है। शिकायत करने वाले छात्र ने बताया, 'मुझे सोमवार की दोपहर फ्लोरिडा से मैसेज मिला था। मैसेज भेजने वाला खुद को आंतकी संगठन के लिए काम करने वाला बता रहा था। उसे भारत में पार्टनर की तलाश है।'

मीडिया में आई रिपोर्ट की मानें तो ममता की हत्या की सुपारी देने वाले ने लिखा है, 'मैं भारत में इस काम में सहायता के लिए 100,000 डॉलर (65 लाख रुपये) देने को तैयार हूं। इस मामले में आपकी सुरक्षा की गारंटी मेरी होगी। चिंता की कोई बात नहीं, बस तैयार हो जाओ।'

यह भी पढ़ें: दाऊद इब्राहिम पर अब कसेगा शिकंजा, मोदी सरकार ने किया खास इंतजाम

इस मैसेज को पढ़ने का बाद बेहरमपुर के छात्र के होश उड़ गए। उसने उसके जबाव में थोड़ा इंतजार करने का समय मांगा। इसके बाद फ्लोरिडा के छात्र ने लैटिन ने लिखा, 'ओके, जो भी करो जल्दी करो। 100,000 डॉलर आपके इंतजार में है। देरी की तो यह काम मैं किसी ओर से करा लूंगा।'

यह भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीयों के साथ ऐसे मनाई दीपावली, देखें जश्न की फोटो

इसके बाद बेहरमपुर के घबराए छात्र ने नो थैंक्स लिखकर मना कर दिया। इसके बाद छात्र ने पुलिस में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। फ्लोरिडा के नंबर और उसे चलाने वाले की खोज की जा रही है। इसके लिए अमेरिकी जांच एजेंसी से भी संपर्क साधा जा रहा है।

Share it
Top