Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कालाधन और भ्रष्टाचार से परेशान लोगों को पीएम मोदी ने दी ये सलाह, विपक्ष हैरान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आम लोगों को पिछले करीब 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं।

कालाधन और भ्रष्टाचार से परेशान लोगों को पीएम मोदी ने दी ये सलाह, विपक्ष हैरान

'एफआईसीसीआई' फिक्की के 90वें एजीएम को संबोधित करते हुए दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आम आदमी को पिछले 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिक्की के 90 साल पूरे होने पर सभी को न सिर्फ बधाई दी, बल्कि इस दौरान फिक्की की प्रासंगिकता पर अपनी टिप्पणी की। पीएम ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम पारदर्शी सिस्टम लाने के लिए हमने कोशिशें की हैं।

देश के कारोबारियों को फिक्की में संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के उद्यमियों ने अपनी पूरी ऊर्जा लगाई। उन्होंने कहा कि लोग भ्रष्टाचार और काले धन की वजह से काफी परेशान थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एफआरडीआई बिल को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं। उन्होंने आगे कहा सरकार ग्राहकों के हित को सुरक्ष‍ित करने के लिए लगातार काम कर रही है। लेकिन खबरे विपरित चलाई जा रही हैं। ऐसे अफवाहों को दूर करने के लिए एफआईसीसीआई जैसे संस्थानों का योगदान महत्वपूर्ण है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा हमारी सरकार ने सिस्टम के साथ गरीब की लड़ाई खत्म करने में मदद की। पहले लोगों को अपना काम करवाने के लिए कमीशन देना पड़ता था। लेकिन अब ऐसा नहीं। हमारी जनधन योजना को भी शानदार रिसपॉन्स मिला।

यह भी पढ़ें- गुजरात चुनाव 2017: रण जीतने के लिए पीएम मोदी और राहुल गांधी ने इन मंदिरों में टेका माथा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गरीबों को पक्के मकान देने के लिेए हमने प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा हमने गरीब महिलाओं के लिए उज्जवल योजना की शुरूआत की।

पीएम मोदी ने कहा मैं गरीबी की उस दुनिया से निकल कर आप लोगों के बीच आया, सीमित संसाधन, सीमित पढ़ाई, लेकिन अपना अथा और सीमित और इसी दुनिया ने मुझे सिखाया। कि देश की आवश्यकताओं को समझते हुए, गरीबों की आवश्यकताओं को समझते हुए, हम कार्य करें, फैसले लें उन्हें लागू करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आम लोगों को पिछले करीब 60 साल के दौरान काफी परेशानियां झेलनी पड़ी थीं। लोगों को अपने छोटे-मोटे काम के लिए दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे और दर-दर भटकना पड़ता था।

यह भी पढ़ें- संसद भवन पर आतंकी हमले की 16वीं बरसी, शहीदों की दर्द भरी दास्तान

मगर लोगों की समस्या से निजात दिलाने के लिए हमारी सरकार काम कर रही है और हम एक पारदर्शी माहौल तैयार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा जनधन योजना को लेकर कहा कि जनधन योजना को लोगों से अपार समर्थन प्राप्त हुआ।

जब ये योजना शुरू हुई थी तो हम लक्ष्य तय नहीं कर पाए थे कि कितने गरीबों के बैंक खाते खोलने हैं। हमारे पास ऐसा कोई डाटा नहीं था, जिससे हमें गरीबों का पता चल सके।

Share it
Top