Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ISI के बड़े जासूसी नेटवर्क का पर्दाफाश, अधिकारियों को ऐसे फसाया था हनी ट्रैप में

सीआईडी की रोहतक शाखा के मुताबिक अमिता अहलूवालिया नाम की इस महिला आईएसआई एजेंट के फेसबुक अकाउंट से 4 दर्जन सैन्य अधिकारी जुड़े मिले।

ISI के बड़े जासूसी नेटवर्क का पर्दाफाश, अधिकारियों को ऐसे फसाया था हनी ट्रैप में
X

भारत में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा जासूसी का बड़ा नेटवर्क बनाने का पर्दाफाश हुआ है। हाल ही में हरियाणा के रोहतक से गौरव शर्मा नाम के व्यक्ति को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

इस मामले की जांच कर रही सीआईडी की टीम तब हैरान रह गई, जब गौरव शर्मा को हनीट्रैप में फंसाने वाली महिला आईएसआई एजेंट का फेसबुक अकाउंट खंगाला गया।

सीआईडी की रोहतक शाखा के मुताबिक, अमिता अहलूवालिया नाम की इस महिला आईएसआई एजेंट के फेसबुक अकाउंट से 4 दर्जन सैन्य अधिकारी जुड़े मिले। इनमें भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना के अलावा कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें- गुजरात राज्यसभा चुनाव: अहमद पटेल को नहीं मिली राहत, याचिका पर सुनवाई करेगी अदालत

जुड़ने वालों में कर्नल,मेजर और कमांडर स्तर के अधिकारी

महिला आईएसआई एजेंट के फेसबुक अकाउंट से जुड़ने वाले अधिकारियों में लेफ्टिनेंट जनरल, कर्नल रैंक के तीन अधिकारी, मेजर रैंक के तीन अधिकारी, कैप्टन, कमांडर, सार्जेंट, एनडीए प्रशिक्षु और जम्मू एवं कश्मीर में नियुक्त एक जेल सुपरिंटेंडेंट तक शामिल हैं।

इसके अलावा बड़ी संख्या में सेवानिवृत्त सैन्य अधिकारी भी इस महिला की फेसबुक फ्रेंडलिस्ट में शामिल हैं। महिला आईएसआई एजेंट की फेसबुक फ्रेंडलिस्ट में शामिल ये अधिकारी हिमाचल प्रदेश, चंडीगढ़, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश और अगरतला के रहने वाले हैं।

हालांकि अभी यह पता नहीं चल सका है कि इस महिला आईएसआई एजेंट ने किसी अन्य सैन्य अधिकारी को हनीट्रैप के जाल में फंसाया है या नहीं।

इसे भी पढ़ें- राजस्थान में पकड़ा गया सूरत रेप और मर्डर केस का संदिग्ध आरोपी

पाक के लिए जासूसी करने वाला गिरफ्तार

इससे पहले आईबी से मिली जानकारी के आधार पर रोहतक पुलिस ने पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गौरव शर्मा नाम के एक युवक को गिरफ्तार किया है, जो सोनीपत के गन्नौर का रहने वाला है।

पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गौरव सेना से रिटायर्ड हवलदार का बेटा है और पिछले 4 साल से आईएसआई को भारतीय सेना से जुड़ी गुप्त और संवेदनशील जानकारियां भेज रहा था।

आरोपी गौरव ने पूछताछ के दौरान पुलिस से खुलासा किया कि वह अब तक 18 बार आर्मी में हुई रिक्रूटमेंट से जुड़ी जानकारियां भेज चुका है। पुलिस ने बताया कि गौरव ने अब तक आईएसआई को जो जानकारियां भेजी हैं, वे रोहतक और हिसार की सेना छावनियों में हुई थीं।

इसे भी पढ़ें- कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी, राष्ट्रमंडल देशों के अन्य प्रमुख भी हुए शामिल

करता था वीडियो कॉल

गौरव ने बताया कि वह पाक महिला से सोशल मीडिया पर वीडियो कॉल किया करता था और वीडियो कॉल के जरिए ही उसने भारतीय सेना से जुड़ी जानकारियां भी भेजीं। पुलिस ने बताया कि आरोपी गौरव करीब 4 साल पहले सोशल मीडिया पर एक महिला के संपर्क में आया।

महिला ने गौरव से दोस्ती गांठने के बाद वीडियो कॉलिंग शुरू कर दी और उसे हनीट्रैप में फंसा लिया। इसके बाद गौरव चार साल से लगातार पाकिस्तानी महिला को सेना में होने वाली भर्तियों की जानकारी भेजता रहता था।

सेना भर्ती में 4 बार रहा असफल

गौरव शर्मा पिछले तीन महीने से रोहतक की एक एकेडमी के हॉस्टल में रह रहा था, जो युवकों को सेना में भर्ती करने की कोचिंग देती है। उसने पुलिस को बताया कि वह पिछले चार सालों के दौरान कई भर्तियों की परीक्षा में शामिल हो चुका है, लेकिन फिजिकल टेस्ट में फेल हो जाने के कारण सेना में भर्ती नहीं हो पाया।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गौरव शर्मा से राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के अधिकारी भी पूछताछ कर सकते हैं।

इनपुट- भाषा

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story