Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

महिलाओं को अब लेना होगा गियर वाले दोपहिया का लाइसेंस

बाजार में 50 सीसी से कम का दोपहिया उपलब्ध नहीं है और परिवहन विभाग बगैर गियर वाले वाहनों का लाइसेंस जारी कर रहा है। इस विसंगति को दूर किया जाएगा। अब मोपेड चलाने वाली महिलाओं व बच्चों को भी गियर वाले दोपहिया का लाइसेंस लेना होगा। यह नियम शीघ्र लागू हो जाएगा।

महिलाओं को अब लेना होगा गियर वाले दोपहिया का लाइसेंस
बाजार में 50 सीसी से कम का दोपहिया उपलब्ध नहीं है और परिवहन विभाग बगैर गियर वाले वाहनों का लाइसेंस जारी कर रहा है। इस विसंगति को दूर किया जाएगा। अब मोपेड चलाने वाली महिलाओं व बच्चों को भी गियर वाले दोपहिया का लाइसेंस लेना होगा। यह नियम शीघ्र लागू हो जाएगा।
उल्लेखनीय है कि मोटर व्हीकल एक्ट के तहत 50 सीसी तक के दोपहिया को बगैर गियर वाहन माना गया है। इससे अधिक क्षमता के वाहन गियर की श्रेणी में आ जाता है। बगैर गियर के वाहन का ड्राइविंग लाइसेंस 16 वर्ष के अधिक उम्र का व्यक्ति बनवा सकता है। गियर वाले वाहन के ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 18 वर्ष की आयु पूरा करना जरूरी है।
विगत कुछ वर्षों में 50 सीसी से कम क्षमता के दोपहिया का उत्पादन आटोमोबाइल कंपनियों ने बंद कर दिया है। इसके बाद परिवहन विभाग ने व्यवस्था में यह बदलाव किया है कि 18 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति का ड्राइविंग लायसेंस बनाना बंद कर दिया गया, लेकिन बिना गियर दोपहिया का ड्राइविंग लाइसेंस बनाने का काम जारी है।
हालांकि यह वैधानिक नहीं है। अब इस विसंगति को दूर करने की कवायद शुरू की गई है। परिवहन विभाग अब किसी महिला या बच्चे को बिना गियर दोपहिया का ड्राइविंग लायसेंस जारी नहीं करेगा। इस व्यवस्था में शीघ्र बदलाव होगा। मोपेड व स्कूटी चलाने वालों को भी गियर वाले दोपहिया का ड्राइविंग लाइसेंस लेना होगा।

जागरूकता का अभाव

बिना गियर ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर आम लोगों में जागरूकता का अभाव है। स्कूटी या मोपेड चलाने वाले उसे बिना गियर वाहन समझते हैं और वैसा ही ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लेते हैं। पुराने चलन के कारण विभाग भी यह लाइसेंस जारी कर रहा था।

ज्यादातर महिलाओं के पास बिना गियर दोपहिया का ही ड्राइविंग लाइसेंस है। पालक भी अपने बच्चों के स्कूल, कालेज,ट्यूशन के लिए मोपेड या स्कूटी लेने पर उन्हें बिना गियर दोपहिया का ड्राइविंग लाइसेंस बनवा कर दे देते हैं और इस लाइसेंस को लेकर वे सड़कों पर फर्राटा भरते हैं।

लाइसेंस होने के कारण पुलिस भी उन्हें कुछ नहीं करती, लेकिन ऐसा कर लोग बड़ी गलती करते हैं, क्योंकि बिना गियर लाइसेंसधारी 50 सीसी से अधिक क्षमता की दोपहिया नहीं चला सकते। इस स्थिति में कोई दुर्घटना होने पर वे बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं।

बंद होगा बिना गियर लाइसेंस

बिना गियर दोपहिया के ड्राइविंग लाइसेंस का कोई औचित्य नहीं है, क्योंकि बाजार में 50 सीसी से कम का वाहन उपलब्ध ही नहीं है। इसीलिए बगैर गियर ड्राइविंग लाइसेंस बनाना ही बंद कर दिया जाएगा। महिलाओं को भी अब गियर वाली दोपहिया का ड्राइविंग लाइसेंस लेना होगा।
अभिभावकों को भी चाहिए कि वे 18 साल से कम उम्र के बच्चों के हाथ दोपहिया न दें और 18 वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों का गियर वाली दोपहिया का ड्राइविंग लाइसेंस बनवाएं। यह उनके लिए भी सुविधाजनक है।- पुलक भट्टाचार्य, एआरटीओ, रायपुर
Next Story
Share it
Top