Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कर्नाटक-तमिलनाडु में पानी को लेकर हाहाकार, विरोध प्रदर्शन और बंद

इस मामले पर अगली सुनावई 16 सितंबर को होगी।

कर्नाटक-तमिलनाडु में पानी को लेकर हाहाकार, विरोध प्रदर्शन और बंद
बेंगलुरु. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कर्नाटक और तमिलनाडु के बीच कवेरी नदी जल विवाद और गहरा गया है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ कर्नाटक में कावेरी होराता समिति ने मांड्या में बंद का आह्वान किया है। बंद को देखते हुए राज्य सरकार ने भारी संख्या में पुलिस की तैनाती कर दी है। ये लोग सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसमें कहा गया है कि कर्नाटक को अपने पड़ोसी राज्य तमिलनाडु को कावेरी से पानी देना होगा।
हाइवे पर प्रदर्शन जारी
कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने शांति की अपील की है. उन्होंने इस मामले को लेकर बेंगलुरु में दोपहर को सर्वदलीय बैठक भी बुलाई है। मांड्या कावेरी बेसिन का सबसे महत्वपूर्ण इलाका है। इस क्षेत्र में आमतौर पर कावेरी के मुद्दे पर विरोध-प्रदर्शन होते रहे हैं। दैनिक जागरण की खबर के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने इस मामले पर विरोध के लिए जुलूस निकालने की योजना भी बनाई है। साथ ही व्यस्त माने जाने वाले बेंगलुरु-मैसूर हाइवे आज दिन भर के लिए रुक-रुक कर अवरुद्ध हो सकता है। जिले के स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे और राज्य परिवहन निगम की बसों को भी हाइवे पर जाने से रोक दिया गया है। सुरक्षा कारणों के मद्देनजर 700 के करीब केएसआरटीसी की सरकारी बसों को सड़कों से हटा लिया गया है। प्रदर्शनकारियों का हाइवे पर प्रदर्शन जारी है, लेकिन अब तक यह शांतिपूर्वक रहा।
15000 क्यूसेक पानी देने का निर्देश
आपको बता दें 2007 के कावेरी न्यायाधिकरण के फैसले को लेकर तमिलनाडु ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था कि वह कर्नाटक को पानी देने के लिए कहे। इस न्यायाधिकरण को दो राज्यों के बीच चल रहे विवाद का समाधान खोजने के लिए बनाया गया था। कर्नाटक का कहना है कि उसके जलाशयों में कम वर्षा के कारण पर्याप्त पानी नहीं है। उसने 10000 क्यूसेक पानी प्रतिदिन की पेशकश की है, तमिलनाडु और पानी चाहता है और सुप्रीम कोर्ट ने अगले 10 दिन के लिए हर दिन 15000 क्यूसेक पानी देने का निर्देश दिया है। इस मामले पर अगली सुनावई 16 सितंबर को होगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top