Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सावधान: चावल के बाद चीन से आए नकली अंडे, ये है पहचान

भारत में इस समय चीन से नकली अंडे आ रह हैं।

सावधान: चावल के बाद चीन से आए नकली अंडे, ये है पहचान
नई दिल्ली. भारत में इस वक्त चीनी सामान ना खरीदने के लिए जोरो शोरों पर विरोध हो रहा है। कुछ दिनों पहले ही चीन से प्लास्टिक के चावल भारत आ रहे थे। लेकिन अब एक नया खुलासा हुआ है। देशभर में चीनी उत्पादों के विरोध के बीच केरल के कई इलाकों में चीन में निर्मित कृत्रिम अंडा बिकने से राज्य सरकार सक्रिय हो गई है। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने जांच के आदेश दिए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यहां अंडा तमिलनाडु से आया और इडुक्की जिले के रास्ते लाया गया है।
बता दें कि देश के अन्य हिस्सों में भी इस नकली चीनी अंडे की बिक्री हो सकती है। नकली अंडा असली अंडे की तुलना में खुरदुरा होता है तथा इसका रंग भूरा सा होता है। जबकि असली अंडा उपर से चिकना तथा सफेद होता है। उबालने के बाद नकली अंडे का उपरी हिस्सा जो कैल्शियम कार्बोनेट से बना होता है कड़ा हो जाता है। अंदर का सफेद हिस्सा भी कड़ा रहता है। इसके अवाला पीली जर्दी को गेंद के समान उछाला जा सकता है।
यह है अंतर
चीन में बने अंडे का कैल्शियम कार्बोनेट से बने उपरी आवरण कैल्शियम कार्बोनेट, जिप्सम पाउडर तथा मोम से बना हुआ होता है। इसके भीतर सोडियम एलिग्नेट, एलम, जिलेटिन तथा कैल्शियम क्लोराइड का मिश्रण भरा रहता है. कुछ अंडों के भीतर स्टार्च तथा राल भी पाया गया है। कृत्रिम अंडे का हल्के भूरे रंग का बाहरी आवरण थोड़ा खुरदुरा होता है, जबकि असली का चिकना होता है। उबालने के बाद कैल्शियम कार्बोनेट का आवरण तोड़ने पर कृत्रिम अंडे का भीतरी हिस्सा असली की तुलना में कड़ा होता है। भीतर की पीली जर्दी रबर की गेंद की तरह हो जाती है और थोड़ी ऊंचाई से छोड़ने पर गेंद जैसी उछलती भी है। यह धारदार वस्तु से ही कटती है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Share it
Top