Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमेरिकी अखबार का खुलासा: फेसबुक ने 60 मोबाइल कंपनियों से की डेटा शेयरिंग की डील, खतरे में यूजर्स की प्राइवेसी

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने एपल और माइक्रोसॉफ्ट समेत करीब 60 हैंडसेट निर्माताओं के साथ डाटा साझा करने के लिए साझेदारी की है।

अमेरिकी अखबार का खुलासा: फेसबुक ने 60 मोबाइल कंपनियों से की डेटा शेयरिंग की डील, खतरे में यूजर्स की प्राइवेसी
X

कुछ हफ्तों पहले ही 8.7 करोड़ लोगों के निजी डाटा को गलत तरीके से साझा करने पर फेसबुक को तीखी आलोचनाएं झेलनी पड़ी थी और अब अमेरिका के एक अखबार ने बड़ा खुलासा किया है जिसमें दावा किया गया है कि सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने एपल और माइक्रोसॉफ्ट समेत करीब साठ हैंडसेट निर्माताओं के साथ डेटा शेयर करने के लिए डील की है। इन कंपनियों की पहुंच उपयोक्ता और उसके दोस्तों के डाटा तक होगी।

ये भी पढ़ेंः पाकिस्तान के पैसे का इस्तेमाल कर युवाओं से पत्थरबाजी करवा रहा हुर्रियतः हंसराज अहीर

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने कल इन साझेदारी समझौतों का खुलासा किया। यह ब्रितानी राजनीतिक सलाहकार कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका से जानकारी साझा करने से जुड़े हाल में घटित मामले के बाद फेसबुक के लोगों के डाटा उपयोग से जुड़े आचरण को दिखाता है। वर्ष 2004 में स्थापित फेसबुक ने एपल, अमेजन, ब्लैकबेरी, माइक्रोसॉफ्ट और सैमसंग समेत कम से कम 60 हैंडसेट विनिर्माता कंपनियों के साथ फेसबुक ने डाटा साझा करने संबंधी समझौते किए हैं।

रिपोर्ट में कंपनी के अधिकारियों के हवाले से कहा गया है कि डाटा साझा करने के समझौते का काम बहुत पहले शुरू कर दिया गया था जबकि स्मार्टफोन पर फेसबुक के एप का पूरी तरह प्रसार भी नहीं हुआ था। फेसबुक 2004 में शुरू हुई। उसने दस साल में कम से कम 60 हैंडसेट विनिर्माताओं से इस तरह का समझौता किया है। इन समझौतों ने फेसबुक को अपनी पहूंच बढ़ाने का मौका दिया और हैंडसेट विनिर्माताओं को सोशल नेटवर्क साइट के ' लाइक जैसे इत्यादि कई फीचर ग्राहकों को पेश करने की छूट दी।
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस तरह के समझौते कंपनी द्वारा 2011 में अमेरिका के संघीय व्यापार आयोग (एफटीसी) के साथ किए गए निजता सुरक्षा एवं अनुपालन आदेश को लेकर चिंताएं बढ़ाता है।
अखबार ने अपनी खोजी रिपोर्ट में कहा है कि फेसबुक ने इन कंपनियों को उपयोक्ताओं और उनके दोस्तों के डाटा तक पहुंच उपलब्ध करायी और इसके लिए उनसे कोई शुरुआती सहमति भी नहीं ली गई, और यह तब किया गया जब कंपनी ने घोषणा की कि वह किसी बाहरी के साथ इस तरह की जानकारी साझा नहीं करती है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story