Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Election 2020: क्या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से मिलेगा भाजपा को विधानसभा चुनाव में फायदा

Delhi Election 2020: दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले संसद में मोदी सरकार ने एक मास्टर स्ट्रोक चला है।

Delhi Election 2020: क्या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट से मिलेगा भाजपा को विधानसभा चुनाव में फायदा
X

Delhi Election 2020: दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले संसद में मोदी सरकार ने एक मास्टर स्ट्रोक चला है। जो दो बातें साफ कर देते है, एक सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, 90 दिनों में राम मंदिर के लिए ट्रस्ट का निर्माण और दिल्ली विधानसभा चुनाव के बीच हिंदू वोटरों को लुभाना।

लोकसभा में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक, श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट बनाने का फैसला सरकार ने किया है। मंदिर निर्माण के लिए योजना तैयार है। ट्रस्ट में 15 ट्रस्टी होंगे, जिसमें एक दलित समाज से होगा।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट बनाने के लिए केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अपनी मंजूरी दे दी है। प्रश्नकाल शुरू होने से ठीक पहले उन्होंने कहा कि ट्रस्ट का नाम श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र रखा गया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्देशित पांच एकड़ जमीन देने के लिए सहमत हो गई है।

दिल्ली चुनाव से दो दिन पहले सरकार ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर को हरी झंडी दी। जिसके साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्माण की देखरेख करने की घोषणा की। उन्होंने दिल्ली चुनाव प्रचार के बीच में अयोध्या मंदिर योजना पर महत्वपूर्ण निर्णय के बारे में कहा था। चुनाव आयोग ने कहा कि आचार संहिता का उल्लंघन नहीं किया गया था क्योंकि सरकार सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करने के लिए बाध्य थी।

बता दें कि बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने दशकों पुरानी राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए राम मंदिर निर्माण का आदेश दिया था। 5 जजों की पीठ ने नवंबर में राम लला के हक में फैसला सुनाया था। ये विवाद 2.7 एकड़ जमीन का था। जिस पर राम मंदिर निर्माण का आदेश दिया तो वहीं बाबरी मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन सुन्नी वक्फ बोर्ड को बनाने के लिए सरकार के आदेश दिया था।

Next Story