Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चुनाव आयोग के इस हलफनामे से नेताओं की उड़ी ''नींद''

चुनाव आयोग ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि गंभीर अपराध के नेताओं के चुनाव लड़ने पर रोक लगनी चाहिए।

चुनाव आयोग के इस हलफनामे से नेताओं की उड़ी नींद
X

चुनाव आयोग ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय से कहा कि गंभीर अपराध के नेताओं के चुनाव लड़ने पर रोक लगनी चाहिए।

आयोग ने यह भी कहा कि जिन नेताओं पर गंभीर अपराध का आरोप हो और उस मामले में उसे 5 साल तक की सजा मुमकिन हो, ऐसे नेताओं पर चुनाव लड़ने की रोक लगनी चाहिए। शर्त ये होनी चाहिए कि ऐसे नेताओं पर यह आरोव चुनाव से कम से कम 6 महीने पहले लगा हो।

चुनाव आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय में दाखिल हलफनामे में कहा कि जन प्रतिनिधि अधिनियम में सुधार होना जरूरी है, केन्द्र को इसके लिए निर्देश जारी किए जाएं। हालांकि कोर्ट ने इस हलफनामे का कोई जवाब अभी नहीं दिया है।

यह भी पढ़ें- सुंजवां आर्मी कैंप आतंकी हमला: जम्मू पहुंचे आर्मी चीफ, सेना का ऑपरेशन जारी, 2 जवान शहीद- 3 आतंकी ढेर

आयोग ने कोर्ट में यह भी तर्क दिया कि चुनाव के दौरान राजनीतिक पार्टियों के बीच पारदर्शिता बनाए रखने के लिए संसद को कानून में सुधार करना चाहिए। चुनाव आयोग ने यह तर्क आपराधिक तत्वों के चुनाव में प्रभाव कम करने एवं राजनीति को साफ-सुथरा बनाने के लिए दिया।

गौरतलब है कि पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में कई गंभीर आपराधिक छवि वाले नेताओं ने चुनाव में अपना नामांकन करवाया था, जिनमें से कई चुने भी गए। अगर सरकार चुनाव आयोग के इस निर्देशों का पालन कर लेती है तो कई आपराधिक छवि वाले नेताओं के राजनीतिक करियर पर ग्रहण लग जाएगा।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story