Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Modi Oath Taking Ceremony Live : पीएम मोदी के बाद कैबिनेट मंत्रियों के शपथ लेने का सिलसिला जारी, जानें अपडेट्स

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण समारोह सर्वार्थ सिद्धि में आज 30 मई 2019 को शुभ चौघडिया में शाम सात बजे होगा। भारतीय संस्कृति 'वसुधैव कुटुम्बकम' का भाव रखने वाली है। हम समूची धरा को सदैव एक कुटुंब (परिवार) की तरह मानते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समरोह में इसी भाव का मूल नजर आएगा।

Modi Oath Taking Ceremony Live : पीएम मोदी के बाद कैबिनेट मंत्रियों के शपथ लेने का सिलसिला जारी, जानें अपडेट्स
X

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण समारोह (modi oath taking ceremony) सर्वार्थ सिद्धि योग में आज 30 मई 2019 को शुभ चौघडिया में शाम सात बजे होगा। भारतीय संस्कृति 'वसुधैव कुटुम्बकम' का भाव रखने वाली है। हम समूची धरा को सदैव एक कुटुंब (परिवार) की तरह मानते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समरोह में इसी भाव का मूल नजर आएगा। राष्ट्रपति भवन में होने वाले इस समारोह में बिम्सटेक (बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिए बंगाल की खाड़ी पहल) के सभी प्रमुख नेता शामिल होंगे। इन्हें आमंत्रित करने का मकसद पड़ोसी देशों को प्राथमिकता देना है। भारत के अलावा बांग्लादेश, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान बिम्सटेक के सदस्य देश हैं। इन सभी पड़ोसी देशों को समोराह में आमंत्रित करने के पीछे एक उद्देश्य उन्हें यह अहसास करवाना भी है कि पड़ोसी होने के नाते दु:ख-सुख में हम सब साथ हैं। अगर किसी पर भी कोई विपदा आती है तो हम सब मिलकर इसका सामना कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनेक मौकों पर कह चुके हैं कि 21वीं सदी एशियाई देशों की होगी।

PM Modi Oath Taking Ceremony Live :

- किरेन रिजिजू, फग्गन सिंह कुलस्ते, अश्विनी कुमार चौबे और अर्जुन राम मेघवाल ने केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली।

- भाजपा नेता महेंद्र नाथ पांडे, गिरिराज सिंह व शिवसेना के अरविंद सावंत ने केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली।

- धर्मेंद्र प्रधान, मुख्तार अब्बास नकवी और प्रहलाद जोशी केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ लिए।

- डॉ. हर्षवर्धन, प्रकाश जावड़ेकर और पीयूष गोयल ने केंद्रीय मंत्री के रूप में शपथ ली।

- रमेश पोखरियाल निशंक और अर्जुन मुंडा ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

- अमेठी की सांसद स्मृति जुबिन ईरानी ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ। स्मृति कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भारी अंतर से हराकर संसद पहुंची हैं। वे सरकार में पहले भी महत्वपूर्ण पद संभाल चुकी हैं।

- पंजाब में भाजपा के सहयोगी दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ। हरसिमरत पंजाब के भटिंडा से लगातार तीसरी बार सांसद चुनी गई हैं।

- पूर्व विदेश सचिव एस. जयशंकर ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

- भाजपा के वरिष्ठ नेता व पटना साहिब से नव निर्वाचित सांसद रविशंकर प्रसाद ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

- भाजपा के सहयोगी दल लोजपा अध्यक्ष राम विलास पासवान व भाजपा के नरेंद्र सिंह तोमर ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

- भाजपा नेता सदानंद गौड़ा ने कैबिनेट मंत्री पद की ली शपथ। गौड़ा पहले भी सरकार में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां संभाल चुके हैं।

- भाजपा के वरिष्ठ नेता नितिन गठकरी और निर्मला सीतारमण ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

- भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कैबिनेट मंत्री पद की ली शपथ।

- भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने ली कैबिनेट मंत्री की शपथ।

- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दूसरी बार ली पीएम पद की शपथ।

- राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शपथ ग्रहण समारोह में पहुंचे, महामहिम के पहुंचते ही राष्ट्रगान हुआ और फिर वे पीएम मोदी को शपथ दिलाने पहुंचे।

- पीएम मोदी राष्ट्रपति भवन पहुंच चुके हैं। वे आज अपनी दूसरी पारी शुरू करने जा रहे हैं। कुछ ही देर में पीएम पद की शपथ लेंगे।

- भाजपा की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज राष्ट्रपति भवन पहुंच चुकी हैं।

- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी राष्ट्रपति भवन में पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने पहुंचे।

- रविशंकर प्रसाद, अमित शाह, हरसिमरत कौर बादल, पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर और अन्य नेता राष्ट्रपति भवन में मंच पर आ गए हैं।

- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

- पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

- अभिनेता से राजनेता बने रजनीकांत और उनकी पत्नी लता पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से पहले राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

- भाजपा नेता निर्मला सीतारमण और गिरिराज सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से पहले राष्ट्रपति भवन पहुंचे।

- भाजपा अध्यक्ष अमित शाह राष्ट्रपति भवन पहुंच चुके हैं। भाजपा सूत्रों के मुताबिक अमित शाह को वित्त मंत्रालय का कार्यभार सौंपा जा सकता है।

- पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां पूरी, राष्ट्रपति भवन का भव्य नजारा।

- पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर भी 7 लोक कल्याण मार्ग स्थित पीएम मोदी के निवास पर पहुंच चुके हैं।

- बिहार के मुजफ्फरपुर के रहने वाले अशोक पीएम मोदी के प्रति अपना समर्थन दिखाने के लिए दिल्ली में चाय बेच रहे हैं, कहते हैं कि मैं मुजफ्फरपुर में चाय बेचता हूं। जहां भी पीएम मोदी की जनसभा आयोजित होती है वहां जाकर मैं चाय बेचता हूं। मैं पीएम मोदी के शपथ लेने तक यहीं रहूंगा, शपथ ग्रहण समारोह खत्म होते ही मैं वापस अपने घर चला जाऊंगा।

- हिमांचल प्रदेश के हमीरपुर से नवनिर्वाचित सांसद अनुराग ठाकुर भी पीएम मोदी के आवास पर पहुंच चुके हैं।

- मीडिया सूत्रों की मानें तो अमित शाह केंद्रीय कैबिनेट में वित्त मंत्री की भूमिका निभा सकते हैं। उनकी जगह जेपी नड्डा भाजपा अध्यक्ष बन सकते हैं।

- गुजरात बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघानी ने ट्वीट कर अमित शाह को मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होने की अग्रिम बधाई दे दी है। ऐसे में उनके ट्वीट के बाद से कयास तेज हो गए हैं कि अमित शाह केंद्र सरकार में मंत्री बन सकते हैं।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर भावी मंत्रियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। पीएम आवास पर नरेंद्र मोदी अपने मंत्रिमंडल के साथ चाय पर चर्चा करेंगे। शाम सात बजे से राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह शुरू होना है।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शपथ ग्रहण शाम 7 बजे होना है लेकिन उससे पहले पीएम सभी भावी मंत्रियों संग चाय पर चर्चा करेंगे। शाम 4.30 बजे सभी मंत्री पीएम मोदी के आवास पर पहुंचेंगे।

- किर्गिस्तान के राष्ट्रपति पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए नई दिल्ली पहुंच चुके हैं।

- शाम 7 बजे पीएम मोदी की कैबिनेट का शपथ ग्रहण समारोह शुरू होगा। अभी तक 40 से अधिक नेताओं के पास मंत्री पद के लिए फोन आ चुके हैं।

- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पीएम मोदी से मिलने उनके आवास पर पहुंचे चुके हैं। यूपी से भी कई सांसद पीएम मोदी की कैबिनेट का हिस्सा बनेंगे।

भाजपा के इन नेताओं को फोन करके आमंत्रित किया जा चुका है-

अर्जुनराम मेघवाल, जितेंद्र सिंह, रामदास अठावले, धर्मेंद्र प्रधान, रविशंकर प्रसाद, बाबुल सुप्रियो, सदानंद गौड़ा, मुख्तार अब्बास नकवी, जी किशन रेड्डी, निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, कृष्ण पाल गुर्जर, सुरेश अंगादि, किरण रिजिजू, साध्वी निरंजन ज्योति, प्रह्लाद जोशी, संतोष गंगवार, राव इंद्रजीत, मनसुख मंडाविया, रमेश पोखरियाल निशंक, पुरुषोत्तम रुपाला।



- संभावित मंत्रियों के पास लगातार फोन जा रहा है। इस बीच पीयूष गोयल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिलने पहुंचे हैं।

- पीएम मोदी के कैबिनेट में शामिल होने वाले नेताओं के नाम सामने आने लगे हैं। संभावित मंत्रियों को पीएमओ से फोन जाना शुरू हो गया है। अभी तक अर्जुन मेघवाल, रामदास अठावले, मुख्तार अब्बास नकवी, पीयूष गोयल, रविशंकर प्रसाद को फोन कॉल करके सूचना दी जा चुकी है।



- पीएम मोदी आज शाम साढ़े चार बजे कैबिनेट के संभावित मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे। पीएम मोदी इस दौरान चाय पर चर्चा करेंगे और काम करने के एजेंडे को समझा सकते हैं। जिन-जिन मंत्रियों को फोन किया गया है उन्हे चार बचे पीएम मोदी के आवास पर पहुंचने को कहा गया है।

- भाजपा के वरिष्ठ नेता भूपेंद्र यादव पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात करने पहुंच चुके हैं। दोनों नेताओं की ये मुलाकात पीएम मोदी से मिलने के बाद हो रही है।

- मोदी सरकार-2 के मंत्रिमंडल पर पीएम मोदी व अमित शाह के बीच बैठक खत्म हो गई है। अमित शाह पीएम आवास से निकल अपने आवास पर पहुंच गए हैं।

- बंगाल चुनाव हिंसा के दौरान मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवारजन आज नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होंगे। वह जिस ट्रेन से आ रहे हैं, वह गुरुवार सुबह नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंची।

- मीडिया सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समारोह में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह नहीं शामिल होंगे।

- मोदी सरकार-2 के मंत्रिमंडल पर अभी भी मंथन हो रहा है। बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सुबह-सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर पहुंचे हैं। पिछले दो दिनों से दोनों नेताओं के मध्य इस बारे में मंथन हो रहा है।

- अटल समाधि स्थल पर श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद पीएम मोदी ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेई को याद किया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि हम हर पल प्यारे अटल जी को याद करते हैं। उन्हें यह देखकर बहुत खुशी होगी कि बीजेपी को लोगों की सेवा करने का इतना अच्छा मौका मिला है। अटलजी के जीवन और कार्य से प्रेरित होकर हम सुशासन और लोगों के जीवन को बदलने का प्रयास करेंगे।

- बरेली से बीजेपी सांसद संतोष गंगवार लोकसभा के प्रोटेम स्पीकर बनेंगे। वह नए सांसदों को शपथ दिलाएंगे। प्रोटेम स्पीकर उसे बनाया जाता है, जो सबसे वरिष्ठ सांसद होता है। संतोष गंगवार आठवीं बार सांसद चुने गए हैं।

- पीएम मोदी के शपथ ग्रहण कार्यक्रम होने में अब सिर्फ 12 घंटे ही बचे हैं। लेकिन उनके कैबिनेट में कौन मंत्री बनेगा यह अभी तय नहीं हुआ है। सिर्फ कयास ही लगाए जा रहे हैं।

- पीएम मोदी की ताजपोशी में विदेशी मेहमानों के आने का सिलसिला जारी हो गया है। शपथ ग्रहण में हिस्सा लेने भूटान के प्रधानमंत्री पहुंच चुके हैं।

- महात्मा गांधी और पूर्व प्रधान मंत्री अटलबिहार वाजपेई को श्रद्धाजंली देने के बाद पीएम मोदी वॉर मेमोरियल पहुंचे हैं। यहां पर पीएम ने शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उनके साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, तीनों सेना के प्रमुख भी मौजूद रहे।

- महात्मा गांधी के समाधि स्थल पर नमन करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अटल समाधि स्थल पर पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे हैं। यहां पर उनके साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह व अन्य नवनिर्वाचित सांसद मौजूद रहे।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरी बार पीएम पद की शपथ लेने से पहले महात्मा गांधी की समाधि पर जाकर श्रद्धांजलि अर्पित की। पीएम मोदी सुबह राजघाट पहुंचे और वहां पर बापू को नमन किया।

- पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के समाधि स्थल पर भाजपा के नव निर्वाचित सांसद पहुंचने लगे हैं। मीडिया सूत्रों के मुताबिक पीएम मोदी सुबह 7.30 बजे अटल स्थल पर पहुंचेंगे।

- पीएम मोदी की शपथग्रहण समारोह में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्ष के तमाम बड़े नेता भी शिरकत करेंगे। लेकिन पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस मौके पर शामिल नहीं होंगी। बता दें कि ममता ने आखिरी वक्त पर यू टर्न लेते हुए आने से इंकार कर दिया।

- पीएम मोदी दोबारा प्रधानमंत्री पद की शपथ से पहले सुबह ही अटल समाधि पर जाएंगे। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करेंगे। उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देंगे। अटल समाधि पर माथा टेकने के बाद शाम को 7 बजे मोदी देश के प्रधानमंत्री पद की दोबारा शपथ लेंगे।

- दिल्ली में भीषण गर्मी को देखते हुए शपथग्रहण कार्यक्रम का वक्त शाम 7 बजे रखा गया है। मेहमानों की अधिक संख्या को देखते हुए इस बार भी शपथग्रहण का कार्यक्रम राष्ट्रपति भवन के फोर कोर्ट में किया जाएगा।

- भाजपा की सहयोगी दल शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे अपनी पत्नी रश्मि और बेटे आदित्य के साथ पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में आ सकते हैं। शिवसेना एनडीए की सबसे बड़ी दल है। पार्टी की लोकसभा में कुल 18 सांसद हैं, और तीन सदस्य राज्यसभा में हैं।

- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में विदेशी मेहमानों, मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों और अन्य विशिष्ट अतिथियों के आगमन को देखते हुए राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा के लिए दिल्ली पुलिस और सुरक्षा बलों के दस हजार जवानों को तैनात किया गया है। सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक मेहमानों के आवागमन मार्ग पर 2 हजार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

नरेंद्र मोदी आज दूसरी बार पीएम पद की शपथ लेंगे।

पीएम मोदी के साथ कई दिग्गज नेता भी मौजूद

पीएम मोदी के साथ तीनों सेनाओं के प्रमुख भी मौजूद

वॉर मेमोरियल में शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं पीएम मोदी

अर्थशास्त्री भी मानते हैं कि भारत की अर्थव्यवस्था जिस रफ्तार से बढ़ रही है वह दिन दूर नहीं जब हम विश्व के सिरमौर होंगे। जब 2008 में पूरा विश्व मंदी से जूझ रहा था तब भी भारत की विकास दर आसमान छू रही थी। यहां तक कि उस कार्यकाल में भारत ही एकमात्र ऐसा देश था जहां सर्वाधिक निवेश हुआ। अब जब हम नए शिखर की ओर बढ़ रहे हैं तो जरूरी है कि पड़ोसी देशों को साथ लेकर चलें और उन्हें अहसास करवाएं कि भारत के विकसित होने से उनका भी विकास होगा।

भारत सदैव पड़ोसी देशों को सहयोग करता रहा है। जब भी किसी पर विपदा आई तो भारत ने उसका हरसंभव सहयोग किया है। चाहे वो मालदीव का पेयजल संकट हो या फिर नेपाल में भूकंप से हुआ महाविनाश। भारत ने हमेशा आगे बढ़कर पड़ोसी धर्म को निभाया है। जब चीन ने भूटान पर बुरी नजर डाली और उसे हड़पने का प्रयास किया तो भारत डोकलाम में भुटान के समर्थन में आ खड़ा हुआ।

भारत के तेवर देखकर न केवल चीन को अपने कदम पीछे खींचने पर मजबूर होना पड़ा बल्कि भूटान को भी विश्वास हो गया कि भारत उसका सच्चा रक्षक है। ऐसे ही सहयोग का हाथ भारत ने अफगान में भी बढ़ाया। तालिबान से मुक्ति पाने के बाद अफगान के नवनिर्माण में भारत सर्वाधिक भागीदार रहा। चाहे वो सड़क, भवन निर्माण हो या फिर अधिकारियों को प्रशासनिक प्रशिक्षण देना।

यहां तक कि वहां के गुप्तचर अमले को तैयार करने में भी भारत ने अहम भूमिका निभाई। जब श्रीलंका में आतंकी हमले हुए तो भारत सबसे अहम सहयोगी के रूप में उसके साथ खड़ा रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथग्रहण समारोह में उन्हें आमंत्रित करने का उद्देश्य यही है कि पड़ोसी देशों से हमारे मित्रवत रिश्तों को और मजबूत करना चाहता है। नरेन्द्र मोदी भाजपा के ऐसे पहले नेता हैं जो प्रधानमंत्री के रूप में पांच साल का कार्यकाल पूरा करने के बाद दूसरी बार इस पद के लिए चुने गए हैं।

जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद नरेन्द्र मोदी पूर्ण बहुमत के साथ लगातार दूसरी बार सत्ता के शिखर पर पहुंचने वाले गैर भाजपाई पहले प्रधानमंत्री हैं। 2014 में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में मंत्रिपरिषद के शपथ ग्रहण समारोह में दक्षेस देशों के शासनाध्यक्षों को आमंत्रित किया गया था। इस बार बिम्सटेक देशों के सभी प्रमुखों को आमंत्रित करने के पीछे भारत की रणनीति यही है कि पड़ोसी देशों को अपनी हर खुशी में शामिल किया जाए।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने भी कहा था कि हम सब कुछ बदल सकते हैं, लेकिन पड़ोसी नहीं बदल सकते, इसलिए पड़ोसी से रिश्ते हमेशा अच्छे होने चाहिएं। हालांकि उन्होंने ये लाइनें पाकिस्तान के बारे में कहीं थी, लेकिन आतंक पर पाक की हठधर्मी के चलते भारत बिम्सटेक देशों से अपने रिश्ते मजबूत करके आगे बढ़ रहा है, जिसमें खासी कामयाबी भी मिल रही है। यह शपथ्ाग्रहण समारोह उसका अगला पड़ाव है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story