Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भूकंप क्यों आता है, जानिए भूकंप से बचाव के उपाय

दुनिया भर में हर वर्ष भूकंप के हजारों झटके लगते हैं, जिनसे कभी-कभार भारी जान-माल का नुकसान होता है।

भूकंप क्यों आता है, जानिए भूकंप से बचाव के उपाय

दुनिया भर में हर वर्ष भूकंप के हजारों झटके लगते हैं, जिनसे कभी-कभार भारी जान-माल का नुकसान होता है। हालांकि अब वर्तमान समय में भूकंपरोधी टेक्नोलॉजी पर मकान बनने शुरू हो चुके हैं लेकिन तेज गति वाला भूकंप इसे भी फेल कर देता है।

वहीं बुधवार को दोपहर करीब 12:40 पर दिल्ली-NCR समेंत पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। भूकंप की तीव्रता 6.1 मापी गई है।

यह भी पढ़ें- तालिबान से अब कोई बात नहीं, होगी सीधी जंग: डोनाल्ड ट्रंप

अफगानिस्तान के हिंदुकुश रेंज में भूकंप का केन्द्र होने की वजह से जम्मू कश्मीर समेत, पंजाब, हरियाण एवं राजधानी दिल्ली में भूंकप के झटके महसूस किए गए। जानिए क्यों आता है भूकंप?

क्यों आता है भूकंप?

आपको बता दें कि पृथ्वी के अंदर कई प्लेट्स हैं जो लगातार घूम रही हैं। जब ये प्लेट्स बार-बार टकराती है तो इनके कोने मुड़ते हैं। जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं। नीचे की एनर्जी बाहर आने का रास्ता खोजती है। डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है। जब यह प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है।

इसलिए टकराती हैं प्लेंटे

दरअसल पृथ्वी के अंदर ये प्लेंटे बेहद धीरे-धीरे घूमती रहती हैं। इस प्रकार ये हर साल चार से पांच मिमी अपने स्थान से खिसक जाती हैं। कोई प्लेट दूसरी प्लेट के करीब जाती है तो कोई दूर हो जाती है। ऐसे में कभी-कभी ये प्लेटें एक दूसरे से टकरा जाती हैं।

भूकंप से बचाव के उपाय

  • भूकंप के समय आप मकान, दफ्तर या किसी बिल्डिंग में मौजूद हैं तो वहां से बाहर निकलकर खुले में आ जाएं।
  • भूकंप के दौरान खुले मैदान से ज्यादा सेफ जगह कोई नहीं होती।
  • किसी बिल्डिंग के आसपास न खड़े हों।
  • यदि आप आप ऐसी बिल्डिंग में मौजूद हैं, जहां लिफ्ट हो तो लिफ्ट का इस्तेमाल कतई न करें। ऐसी स्थिति में सीढ़ियों का इस्तेमाल ही अच्छा होता है।
  • यदि ऊंची बिल्डिंग होने के कारण आपका उतर पाना मुमकिन न हो तो बिल्डिंग में मौजूद किसी मेज, ऊंची चौकी या बेड के नीचे छिप जाएं। घर की सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।
Share it
Top