Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

भारत में 21 लाख से अधिक लोग विस्थापित, जानिए- दुनिया में कहां कितने लोग हुए विस्‍थापित

रिपोर्ट से पता चलता है कि पिछले चार दशकों में आपदाओं की संख्या दोगुनी से ज्यादा हो गयी है

भारत में 21 लाख से अधिक लोग विस्थापित, जानिए- दुनिया में कहां कितने लोग हुए विस्‍थापित
वाशिंगटन. संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से जारी एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में पिछले साल प्राकृतिक आपदाओं की वजह से करीब 21.40 लाख लोग विस्थापित हुए। वर्ष 2013 में विस्थापितों की संख्या के लिहाज से देश फिलीपीन और चीन के बाद तीसरे स्थान पर था।‘वैश्विक अनुमान 2014 आपदाओं से विस्थापित हुए लोग’ शीर्षक की इस रिपोर्ट में कहा गया कि 2013 में भूकंप या जलवायु की वजह से आयी आपदाओं से दुनिया भर में 2.2 करोड़ लोग विस्थापित हुए जो कि पिछले साल संघर्षों की वजह से विस्थापित हुए लोगों की संख्या का करीब तीन गुना है।
भारत में 2008-13 के बीच कुल 2.61 करोड़ लोग विस्थापित हुए जो कि चीन के बाद सर्वाधिक है। चीन में इस दौरान 5.42 करोड़ लोग विस्थापित हुए थे। पिछले साल भारत में प्राकृतिक आपदाओं की वजह से हुई तबाही से 21.4 लाख लोग विस्थापित हुए जबकि हिंसा की वजह से विस्थापित होने वाले लोगों की संख्या 64,000 थी। नार्वे शरणार्थी परिषद के आंतरिक विस्थापन निगरानी केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार, 2008 से 2013 के बीच 80.9 प्रतिशत विस्थापन एशिया में हुआ। पांच देशों में सबसे ज्यादा विस्थापन हुआ जो कि संख्या के हिसाब से इस क्रम में थे फिलीपीन, चीन, भारत, बांग्लादेश और वियतनाम।
आपदाओं की संख्या दोगुनी से ज्यादा: रिपोर्ट के अनुसार लोगों को बाहर निकालने समेत बेहतर तैयारियों से हताहत होने वाले लोगों की संख्या को 50 से कम पर सीमित करने में मदद मिली थी। वर्ष 2008-13 के बीच बार बार आपदाओं के आने से विस्थापित हुए लोगों की संख्या के हिसाब से चीन, भारत, फिलीपीन,पाकिस्तान, बांग्लादेश, नाइजीरिया और अमेरिका पहले सात स्थान पर थे। रिपोर्ट से पता चलता है कि पिछले चार दशकों में आपदाओं की संख्या दोगुनी से ज्यादा हो गयी है जिसका कारण मुख्यत: विकास और विशेषकर संवेदनशील देशों में शहरी आबादी की सघनता है।
नीचे की स्लाइड्स में जानिए, फैलिन से सबसे ज्यादा तबाही-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-
Next Story
Share it
Top