Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डोनाल्ड ट्रंप ने इस्राइल से कहा, मेरे राष्ट्रपति बनने तक डटे रहो

इस्राइल के पीएम ने ट्रंप का शुक्रिया किया है।

डोनाल्ड ट्रंप ने इस्राइल से कहा, मेरे राष्ट्रपति बनने तक डटे रहो
वाशिंगटन. अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस्राइल से कहा कि वह संयुक्त राष्ट्र में मजबूती से डटा रहे। ट्रंप ने इस्राइल को मजबूती से डटे रहने की सलाह दी है। ट्रंप ने ट्वीट करके कहा कि, इस्राइल को घबराने की जरुरत नहीं है, उनके राष्ट्रपति पद को संभालने तक इस्राइल को बने रहना चाहिए। दरअसल संयुक्त राष्ट्र में इस्राइल के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित हो चुका है।
ट्रंप ने कहा कि वह इस्राइल के साथ अमेरिका की वर्षों पुरानी दोस्ती को निभाएंगे। दरअसल संयुक्त राष्ट्र में इस्राइल के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित हो चुका है। यह फलस्तीन में यहूदी बस्तियां बसाने का मामला है। वहीं इस मामले में इस्राइल पीछे हटने को तैयार नहीं है।
नहीं होने देंगे इस्राइल का अपमान-
अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक टवीट करके इस्राइल को डटे रहने को कहा है। ट्रंप ने कहा कि, 20 जनवरी को उनके राष्ट्रपति बनने तक इस्राइल को डटे रहना चाहिए। उन्होंने मौजूदा अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भी आलोचना की और कहा कि वह बदलाव करने के उलके प्रयासों को रोक रहे हैं। वहीं, इस्राइल के पीएम ने ट्रंप का शुक्रिया किया है और मामले में न्यूजीलैंड के विदेश मंत्री मर्रे मैककुली को धमकाया है। उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड इस्राइल के खिलाफ प्रस्ताव का समर्थन न करे। वरना उसका यह कदम ‘युद्ध की घोषणा’ होगी।
इस्राइल ने किया अमेरिका का विरोध-
दरअसल, फलस्तीन में यहूदी बस्तियां बसाने को लेकर इस्राइल के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव पास हो चुका है, लेकिन इस्राइल पीछे हटने को तैयार नहीं है। साथ ही उसने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से नाता तोड़ते हुए अमेरिका की कड़ी आलोचना की है। इस्राइल की इस पहल का समर्थन करते हुए ट्रंप ने ट्वीट किया कि इस्राइल के साथ ऐसे अपमानजनक व्यवहार की इजाजत नहीं दी जा सकती है। उन्होंने ये भी ट्वीट किया, ‘पहले ईरान के साथ समझौता और अब संयुक्त राष्ट्र में इस्राइल का विरोध।’
इस्राइल के पीएम ने ट्रंप को कहा धन्यवाद-
इस पर इस्राइल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने कहा, ‘डोनाल्ड ट्रंप आपका इस गर्मजोशी भरी दोस्ती और साफ तौर पर इस्राइल का समर्थन करने के लिए शुक्रिया। उधर, ट्रंप के आलोचकों ने उनसे अंतर्राष्ट्रीय मामलों में पारंपरिक तौर-तरीके अपनाने को कहा है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top