Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमेरिका ने पाकिस्तान का बंद किया हुक्का-पानी, रोकी 255 मिलियन डॉलर आर्थिक मदद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नए साल के पहले दिन पाकिस्तान को तगड़ा झटका देते हुए किस्तान को धोखेबाज साथी बताते हुए उसकी 1628 करोड़ रुपए यानी 255 मिलियन डॉलर की आर्थिक मदद रोक दी है।

अमेरिका ने पाकिस्तान का बंद किया हुक्का-पानी, रोकी 255 मिलियन डॉलर आर्थिक मदद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने नए साल के पहले दिन पाकिस्तान को तगड़ा झटका दिया है। उन्होंने पाकिस्तान को धोखेबाज साथी बताते हुए उसकी 1628 करोड़ रुपए यानी 255 मिलियन डॉलर की आर्थिक मदद रोक दी है। ट्रम्प के इस बयान को एक सोची समझी रणनीति के रूप में लिया जा रहा है।

विशेषज्ञों के अनुसार पाक की मौजूदा हालत की बड़ी वजह भारत और अमेरिका की नजदीकियां हैं। मोदी के दौर में भारत की फॉरेन पॉलिसी से ये फर्क आया कि अमेरिका को पाकिस्तान की आर्थिक मदद रोकनी पड़ी है। इससे पहले भारत के नजदीकी रहे पूर्व यूएस प्रेसिडेंट जॉर्ज बुश और बराक ओबामा भी पाकिस्तान के खिलाफ ऐसा फैसला नहीं ले पाए थे।

वहीं आतंकियों को संरक्षण देने की नीति पर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप से कड़ी फटकार मिलने पर बौखलाए पाकिस्तान ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। ट्रंप के ट्वीट के जवाब में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने भी ट्वीट किया है।

पाक-अमेरिका ट्वीटर वॉर

आसिफ ने अपने ट्वीट में लिखा, 'हम राष्ट्रपति ट्रंप के ट्वीट पर जल्दी ही जवाब देंगे। इंशाल्लाह चलो दुनिया को सच पता चल जाएगा। तथ्य और कल्पनाओं का अंतर लोगों को जानना चाहिए।'

इससे पहले नए साल के मौके पर पाकिस्तान को लताड़ लगाते हुए डॉनल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया था कि पाकिस्तान ने लंबे समय तक झूठ और छल किया है, लेकिन अब और नहीं।

पाक को ट्रंप का करारा जवाब

ट्रंप ने ट्वीट किया था, 'अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण ढंग से बीते 15 सालों में पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की सहायता दी है। लेकिन बदले में हमें झूठ और छल के अलावा कुछ भी नहीं मिला।

हमारे नेताओं को मूर्ख समझा गया। वे आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह देते रहे और हम अफगानिस्तान में खाक छानते रहे। अब और नहीं।'

हाफिज सईद पर हमला

माना जा रहा है कि पाकिस्तान में हाफिज सईद के चुनावी समर में उतरने की संभावनाओं और अदालत की ओर से उसे रिहा किए जाने के फैसले के बाद ट्रंप ने यह हमला बोला है।

ट्रंप के इस ट्वीट से इस बात के संकेत मिलते हैं कि साल 2018 में पाकिस्तान की ओर से आतंकवाद समर्थित नीतियों के प्रति अमेरिका रवैया नरम नहीं रहेगा।

Next Story
Top