Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने सीरिया रिक्वरी फंड पर लगाई रोक, बयान के बाद दिया ये बड़ा संकेत

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका के स्टेट विभाग को आदेश जारी कर कहा है कि वो इस हफ्ते सीरिया के लिए दिए जाने वाले 200 मिलियन रिक्वरी धन को रोक दे। राष्ट्रपति ट्रम्प के इस फैसले के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे है कि हो सकता है कि अमेरिका जल्द ही सिरिया से अपने सैनिकों को वापिस बुला सकता है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने सीरिया रिक्वरी फंड पर लगाई रोक, बयान के बाद दिया ये बड़ा संकेत
X
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिका के स्टेट विभाग को आदेश जारी कर कहा है कि वो इस हफ्ते सीरिया के लिए दिए जाने वाले 200 मिलियन रिक्वरी धन को रोकने का आदेश दिया है।
मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक ट्रम्प ने अधिकारियों से सीरिया के लिए दिए जाने वाले धन और उसके व्यय का ब्यौरा भी मांगा है। राष्ट्रपति ट्रम्प के इस कदम को जानकार सीरिया में अमेरिका के मोह भंग के तौर पर देख रहे है।
राष्ट्रपति ट्रम्प के इस फैसले के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे है कि हो सकता है कि अमेरिका जल्द ही सिरिया से अपने सैनिकों को वापिस बुला सकता है। और दूसरों को उनके मुताबिक जीने की आजादी दे सकता है।
अमेरिकी अखबार के मुताबिक ट्रम्प ने यह फैसला एक अखबार में छपी खबर के बाद लिया है जिसमें लिखा गया था कि अमेरिका ने सीरिया को लेकर अपने रक्षा बजट में अतिरिक्त 200 मिलियन डॅालर की घोषणा की है।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह पैसा आधारभूत ढांचो कि निर्माण, जिसमें सड़क निर्माण से लेकर पानी के संरक्षण और बिजली उत्पन्न करने के लिए किया जाना था।
हांलाकि मीडिया रिपोर्टस् के मुताबिक इन पैसों के रोक के निश्चित काल के लिए नहीं है। आधिकारियों के मुताबिक इस बात का फैसला इस हफ्तें होने वाली उच्च स्तरीय बैठक के बाद किया जाएगा।
इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग सीरिया विरोधी मुहिम से जुड़े विभाग से पूरी जानकारी लेने के बाद ही करेंगे। दरअसल राष्ट्रपति सीरिया से जल्द अपनी सैनिको को वापिस लेना चाहते है।
गौरतलब है कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने वीरवार को अपने एक अभिभाषण में इस बात को लेकर अपनी इच्छा जाहिर की थी कि हम जल्द ही सीरिया से अपने सैनिको को वापिस बुलाने जा रहे है।
हम चाहते है कि सीरिया के लोग अब अपनी जिंदगी अपने मुताबिक जिए। ट्रम्प ने आगे कहा कि हम शत प्रतिशत खलिफा है जैसा कि वो हमें कहते है। लेकिन इस बार हम जरूर पूरी तरह से सीरिया से वापसी कर रहे है। हम अपने सैनिकों को वापिस अमेरिका बुला रहे है जहां से वो संबंध रखते है।
आपको बता दे कि इस समय सीरिया में 2000 से ज्यादा अमेरिकी सैनिक तैनात है, जो वहां रहकर सीरियन डेमोक्रेटिक फोर्स के साथ मिलकर सीरिया में आईएसआईएस (ISIS) के आतंकवादियो के खिलाफ लड़ाई में हिस्सा लेते है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story