Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अमेरिकाः भारतीयों को नौकरी देने के मामले में ''डिज्नी'' पर केस

डिज्नी पर भारतीयों को स्पेशल ट्रीटमेंट देने का आरोप है।

अमेरिकाः भारतीयों को नौकरी देने के मामले में डिज्नी पर केस
X
नई दिल्ली. फ्लॉरिडा में डिज्नी के पूर्व आईटी कर्मियों ने एक केस फाइल किया है जिसमें कंपनी के ऊपर उनके साथ भेदभाव करने का आरोप लगाया गया है। शिकायत में कहा गया है कि उनकी नौकरी छीन कर उन भारतीयों को दे दी गईं जो यहां H1-B वीजा पर काम करने आते हैं।
इस मामले में डिज्नी पर भारतीयों को स्पेशल ट्रीटमेंट देने का आरोप है। यह भी कहा गया है कि कंपनी ने अमेरिकी कर्मियों से ही भारतीयों को ट्रेनिंग दिलवाई जो कि बेहद अपमानजनक है।
शिकायत के मुताबिक, डिज्नी ने साल 2014 में ऑरलैंडो में अपने 250 आईटी कर्मियों यह सूचना दी कि उनको 90 दिन के अंदर नौकरी छोड़नी होगी। इसके बाद कंपनी ने तेजी से इन कर्मचारियों की जगह भारतीयों की भर्ती की। इनमें से कुछ दूर से ही काम करने वाले थे तो कुछ H1-B वीजा के जरिए अमेरिका आए। कोर्ट के पेपर्स में कहा गया है कि ये सभी भारतीय मूल के थे।
एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक, शिकायत में कहा गया है कि डिज्नी ने अपने कर्मियों को उनकी जगह आने वाले विदेशियों को ट्रेनिंग देने का आदेश देकर शत्रुतापूर्ण माहौल बना दिया। शिकायत के मुताबिक डिज्नी ने अपने पूर्व कर्मियों को दिमागी पीड़ा, भावनात्मक दुख दिया है।
बता दें कि दो महीने पहले है फ्लॉरिडा के फेडरल जज ने इसी मामले में डिज्नी के कुछ अन्य पूर्व आईटी कर्मियों द्वारा दायर मामले पर सुनवाई से मना कर दिया था। जज ने कहा था कि डिज्नी ने इस मामले में किसी नियम का उल्लंघन नहीं किया है।
हालांकि हाल ही में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी नौकरियों की आउटसोर्सिंद बंद करने के अपने चुनावी वादे के तहत H1-B वीजा पर निशाना साधा था। ट्रंप ने कहा था कि वह इस वीजा के दुरुपयोग को रोकने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story