Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

70 फीसदी फिटनेस सप्लीमेंट नकली व अपंजीकृत: ASSOCHAM

रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 78 प्रतिशत किशोर इन सप्लीमेंट का इस्तेमाल करते हैं।

70 फीसदी फिटनेस सप्लीमेंट नकली व अपंजीकृत: ASSOCHAM
नई दिल्ली. उद्योग संगठन एसोचैम ने दावा किया है कि देश में बिक रहे 60 से 70 प्रतिशत फिटनेस सप्लीमेंट नकली हैं। बाजार अनुसंधान कंपनी आरएनसीओएच के साथ किए गए एक अध्ययन की रिपोर्ट जारी करते हुए उद्योग संगठन ने कहा, देश में बेचे जा रहे 60 से 70 प्रतिशत पूरक आहार नकली, अपंजीकृत या गैर-मान्यता प्राप्त हैं। साथ ही नकली उत्पादों की पहचान कर पाना भी बेहद मुश्किल है।
पोर्ट में कहा गया है कि देश में फिटनेस सप्लीमेंट का बाजार वर्तमान में लगभग दो अरब डॉलर का है। इसके वर्ष 2020 तक बढ़कर चार अरब डॉलर पर पहुंच जाने की उम्मीद है। इस क्षेत्र की कंपनियों के लिए विटामिन और खनिजों के पूरक आहार में आने वाले वर्षों में काफी संभावनाएँ बनेंगी क्योंकि इनके ग्राहकों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और इसमें सबसे बड़ा योगदान बढ़ते मध्यम वर्ग का है।
बने समितियां
अध्ययन रिपोर्ट में ग्राहकों को नकली उत्पादों के चंगुल से बचाने के लिए प्रखंड स्तर पर छोटी-छोटी समितियों का निर्माण किए जाने की सिफारिश की गई है जो बाजार में नकली उत्पादों की मौजूदगी पर नजर रख सकें और उनकी बिक्री रुकवाने के लिए जरूरी कदम उठाए, ताकि पूरे उद्योग का नाम खराब न हो।
सर्वेक्षण ने हुआ खुलासा
वर्ष 2012 के एक सर्वेक्षण का हवाला देते हुए उसने कहा कि बड़े भारतीय शहरों में 78 प्रतिशत किशोर पूरक आहारों का इस्तेमाल करते हैं। वे अपना शरीर सौष्ठव, बीमारियों से लड़ने की क्षमता और ऊर्जा का स्तर बढ़ाने के लिए इनका सेवन करते हैं। अध्ययन में इन पूरक आहारों के कुप्रभावों के बारे में भी बताया गया है।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top