Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

धारा 370 है क्या, जानिए इस मामले से जुड़ी हर बात

आपने अक्सर कश्मीर की बात होने पर धारा 370 का जिक्र जरूर सुना होगा। लेकिन आप जानते हैं कि ये धारा 370 है क्या। धारा 370 का कश्मीर से क्या संबंध है और क्यों देश में बार-बार कश्मीर में मौजूद धारा 370 को खत्म करने की मांग उठती है। 14 फरवरी को हुए पुलवामा आंतकी हमले के खिलाफ 17 फरवरी को अखिल भारतीय हिन्दू महासभा ने अपने विरोध मार्च में कश्मीर से धारा 370 हटाने की सरकार से मांग की है।

धारा 370 है क्या, जानिए इस मामले से जुड़ी हर बात

Dhara 370 Kya Hai

आपने अक्सर कश्मीर की बात होने पर धारा 370 का जिक्र जरूर सुना होगा। लेकिन आप जानते हैं कि ये धारा 370 है क्या। धारा 370 का कश्मीर से क्या संबंध है और क्यों देश में बार-बार कश्मीर में मौजूद धारा 370 को खत्म करने की मांग उठती है। 14 फरवरी को हुए पुलवामा आंतकी हमले के खिलाफ 17 फरवरी को अखिल भारतीय हिन्दू महासभा ने अपने विरोध मार्च में कश्मीर से धारा 370 हटाने की सरकार से मांग की है। ऐसे में धारा 370 के बारे में जानना बेहद जरूरी हो जाता है, इसलिए आज हम आपको धारा 370 क्या है और और उससे जुड़ी हर जानकारी बता रहे हैं...

15 अगस्त 1947 की आजादी के बाद देश कई सारी छोटी-छोटी रियासतों में बंटा हुआ था। जिसे सरदार वल्लभ भाई पटेल ने अपने प्रयासों से सभी रियासतों को एक सूत्र में बांधतें हुए भारतीय संघ की स्थापना की। आजादी के वक्त जम्मू-कश्मीर रियासत में राजा हरि सिंह का शासन था, जो पहले भारत संघ में शामिल होने से मना कर रहे थे, लेकिन तभी पाकिस्तान समर्थित कबिलाइयों ने जम्मू-कश्मीर रियासत पर हमला कर दिया। जिससे बचने के लिए राजा हरि सिंह ने भारत यानि भारतीय संघ से सुरक्षा करने की मांग की।

जिसके बाद कुछ शर्तों के साथ जम्मू-कश्मीर रियासत का भारतीय संघ में विलय के लिए कर लिया गया। सरदार पटेल के दूत यानि गोपालस्वामी आयंगर ने संघीय संविधान सभा में जम्मू-कश्मीर की शर्तो को मिलाकर बनाई गई धारा 306-ए का प्रारूप पेश किया, जो बाद में धारा 370 बन गई। जिसके बाद विलय की शर्तों की वजह से जम्मू-कश्मीर को भारत के अन्य राज्यों से अलग अधिकार मिल गए। जिसके बाद से कश्मीर के स्पेशल स्टेटस और अधिकार को आमतौर पर धारा 370 के नाम से जाना जाता है। आइए जानते हैं क्या है धारा 370...

क्या है धारा 370

1. संविधान की धारा 370 जम्मू-कश्मीर को देश के अन्य राज्यों से अलग दर्जा देती है। जिसके मुताबिक आप भारत का कोई भी नागरिक जम्मू-कश्मीर में जमीन या प्रॉपर्टी नहीं खरीद सकता है।

2. धारा 370 के वजह से कश्मीर में राष्ट्रपति कभी भी जम्मू-कश्मीर के संविधान को बर्खास्त नहीं कर सकता है।

3. धारा 370 की वजह से भारत की संसद जम्मू-कश्मीर में रक्षा, विदेश मामले और संचार के अलावा कोई अन्य कानून नहीं बना सकती।

4. धारा 370 की वजह से जम्मू-कश्मीर में कभी भी देश के संविधान की धारा 360 यानि वित्तिय आपातकाल मान्य नहीं होता।

5.धारा 370 की वजह से जम्मू-कश्मीर का अपना एक अलग संविधान और अलग झंडा है।

6. धारा 370 की वजह से कश्मीर के लोगों को दो नागरिकता मिलती हैं।

7. धारा 370 की वजह से अगर कोई कश्मीरी लड़की किसी अन्य राज्य के युवक के साथ शादी करती है, तो उसकी कश्मीर की नागरिकता हमेशा के लिए खत्म हो जाती है।

8. धारा 370 के मुताबिक अगर कोई कश्मीरी लड़की पाकिस्तान के किसी युवक से शादी करती है, तो उस युवक पाकिस्तान के साथ ही कश्मीर की नागरिकता भी मिल जाएगी।

Loading...
Share it
Top