Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राज्यसभा: नोटबंदी को मनमोहन ने बताया सरकार की बड़ी ''भूल''

मनमोहन ने आशंका जताई कि नोटबंदी से जीडीपी में 2 फीसदी की गिरावट आ सकती है।

राज्यसभा: नोटबंदी को मनमोहन ने बताया सरकार की बड़ी
नई दिल्ली. केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले पर संसद से लेकर सड़क तक सियासी जंग तेज हो रही है। सदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जवाब मांग रहा विपक्ष आक्रामक नजर आ रहा है। वहीं टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी समेत विपक्ष ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। संसद में विपक्ष लगातार हंगामा कर रहा है और कार्यवाही हर दिन स्थगित हो रही है।
गुरूवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी, जिसमें उन्हें सभी दलों के नेताओं से मुलाकात करनी थी, लेकिन विपक्ष इस बैठक में नहीं पहुंचा। इसी बीच राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे। जहां मनमोहन सिंह ने नोटबंदी के फैसले को एक ब्लंडर करार दिया है।
राज्यसभा में बोलें मनमोहन-
देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी के नोटबंदी के फैसले को एक बहुत बड़ी भूल बताया है। मनमोहन ने कहा कि, पीएम कह रहे हैं कि नोटबंदी का फैसला आगे ले जाने वाला फैसला है और इससे आतंकवाद भी रूकेगा। मैं इसका विरोध नहीं कर रहा। लेकिन जो लोग प्रभावित हो रहे हैं उनकी बात सुनी जानी चाहिए। पीएम ने 50 दिन इंतजार करने को कहा है, ये छोटा वक्त हो सकता है लेकिन देश के गरीबों के लिए छोटा वक्त नहीं है। हमें नहीं पता कि नोटबंदी का आखिरी परिणाम क्या होगा। इसके खतरनाक नतीजे हो सकते हैं। बैंकिंग सिस्टम से लोगों का विश्वास कमजोर हुआ है। मनमोहन ने आशंका जताई कि नोटबंदी से जीडीपी में 2 फीसदी की गिरावट आ सकती है। वहीं नोटबंदी के फैसले पर बदइंतजामी की गई और इसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ा।
बसपा सुप्रीमों मायावती ने रखा पक्ष-
वहीं बसपा सुप्रीमों मायावती ने नोटबंदी पर अपना पक्ष रखा है। मायावती का कहना है कि, केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले को हमारी पार्टी समर्थन करती है लेकिन आपका तरीका सही नहीं है। कल सर्वे आ रहा था, वो गलत है। 90% लोग आज भी एटीएम और बैंको के बाहर लाइन में खड़े हैं।
डेरेक ओ'ब्रायन ने नोटबंदी को तकलीफ देने वाला फैसला बताया-
टीएमसी सांसद डेरेक ओ'ब्रायन ने नोटबंदी को जनता को तकलीफ देने वाला फैसला बताया है। डेरेक ने खा कि, नोटबंदी से सभी को तकलीफ पहुंची है। इस फैसले के 2 घंटे बाद ही ममता जी ने इसका विरोध किया था। समाज में हर तबके में इसे लेकर गुस्सा है। पूरा विपक्ष एकजुट है। 500 रुपए के पुराने नोट को नए 500 रुपए के नोट के साथ ही चलाना चाहिए था। पीएम ने एक वोटिंग करवाई और कहा कि 92 फीसदी लोग खुश हैं। मैं जानना चाहता हूं कि यह 92 फीसदी लोग है कहां? पीएम इस बहस का जवाब देंगे। हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। आप ममता बनर्जी को इसके लिए जेल में डाल सकते हैं।
नोटबंदी पर एकजुट हुआ विपक्ष-
सभी विपक्षी पार्टियों ने एकजुटता दिखाते हुए नोटबंदी पर 28 नवंबर को देशभर में प्रदर्शन का ऐलान किया है। 500, हजार के नोट बंद होने के बाद से ही पीएम मोदी विपक्ष के निशाने पर हैं। विपक्ष जनता की आवाज बनने का दावा कर सरकार के खिलाफ संसद से सड़क तक विरोध कर रहा है। कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया तो ममता बनर्जी ने जंतर मंतर पर धरना देकर पीएम पर देश की अर्थव्यवस्था से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top