Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी का असर 10वें दिन भी जारी, बैंकों के बाहर कतारें जस की तस

एटीएम मशीनों को 2000 और 500 रपये के नए नोटों के अनुरूप बनाने में अभी 10 से 15 दिन का समय और लगेगा

नोटबंदी का असर 10वें दिन भी जारी, बैंकों के बाहर कतारें जस की तस
नई दिल्ली. नोटबंदी के दसवें दिन भी बैंक और एटीएम के बाहर कतारों की लंबाई में कोई कमी नहीं आई है। लोग घंटों कतारों में खड़े हैं ताकि बंद हो चुके 500 और 1000 के पुराने नोटों के बदले नए नोट हासिल कर सकें।
पुराने नोटों के अचानक बंद होने से लोगों को अपनी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी करने में दिक्कतें पेश आ रही हैं क्योंकि वे नकदी की तंगी से परेशान हैं।
अधिकतर एटीएम में या तो नकदी नहीं है या उनमें नकदी जल्दी खत्म हो जाती है। लोगों को सरकार की ओर से तय अधिकतम 2500 रुपये की नकदी निकासी के लिए भी एक-दो घंटे कतार में गुजारने पड़ रहे हैं।
बैंकों का कहना है कि सभी एटीएम मशीनों को 2000 और 500 रपये के नए नोटों के अनुरूप बनाने में अभी 10 से 15 दिन का समय और लगेगा।
हालांकि वित्तमंत्री अरूण जेटली ने गुरुवार को कहा था कि बैंक शाखाओं के बाहर कतारों में महत्वपूर्ण कमी आई है और वास्तव में कोई परेशान होने वाली बात नहीं है।
सरकार के साथ-साथ रिजर्व बैंक भी बाजार में नकदी उपलब्ध कराने के लिए कड़ी मशक्कत कर रहा है। नोटबंदी का सबसे बुरा असर छोटे दुकानदारों, ढाबों और गली-मोहल्ले के किराना स्टोरों पर पड़ा है जो आमतौर पर लेन-देन में नकदी का इस्तेमाल करते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top