Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नोटबंदी के चलते इनकी हो रही है जमकर कमाई

कैश की किल्लत के चलते लोग डिजिटल पेमेंट पर ही अधिकतर खरीदारी कर रहे हैं

नोटबंदी के चलते इनकी हो रही है जमकर कमाई
नई दिल्ली. देश में 500 और 1000 रुपए के नोटबंदी के बाद से बाजार से रौनक गयाब सी हो गई है। लोगों के पास कैश में खरीददारी करने के लिए पैसे बचे ही नहीं है। इस नोटबंदी का असर बाजारों पर साफ दिखा दे रहा है। कैश की किल्लत के चलते लोग डिजिटल पेमेंट पर ही अधिकतर खरीदारी कर रहे हैं। ऐसे में कुछ लोगों की कमाई भी खूब हो रही है।
सरकार के इस फैसले के बाद प्वाइंट ऑफ सेल (स्वाइप मशीन) मशीनों की मांग दोगुनी हो गई है। इन मशीनों की मैन्युफैक्चरिंग करने वाली कंपनी पाइन लैब्स के सीईओ लोकवीर कपूर ने बताया, ‘पिछले दो दिनों में हमारे पीओएस टर्मिनल्स में ट्रांजैक्शंस की संख्या डबल हो गई है। नए टर्मिनल्स के इंस्टॉलेशन के लिए हमें हजारों रिक्वेस्ट मिली हैं। ये रिक्वेस्ट डॉक्टरों, कपड़ा दुकानदारों, वेडिंग प्लानर्स की तरफ से मिली हैं।’
नेशनल पेमेंट्स कारपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने कार्ड के खरीदारी करने पर बैंक पर लगाए जाने वाले 90 पैसे के चार्ज को खत्म कर दिया है। इस फैसले से सीधा फायदा दुकानदारों और ऑनलाइन रिटेलर्स को होगा, जिन्हें कार्ड कंपनियों को चार्ज देना पड़ता है। NPCI के अंतर्गत RuPay कार्ड आते हैं और इस फैसले के बाद MasterCard और Visa कार्ड जैसे विरोधियों को भी चार्ज खत्म करना पड़ सकता है। देश में कुल 69 करोड़ डेबिट कार्ड हैं और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से जुड़ी NPCI के अंतर्गत 30 करोड़ डेबिट कार्ड आते हैं। इन 30 करोड़ में जनधन योजना के तहत दिए गए डेबिट कार्ड भी हैं। कार्ड स्वाइप और ई-कॉमर्स ट्रांसजेक्शन पर अभी तक कार्ड जारी करने वाले बैंक पर 60 पैसे और कार्ड स्वीकार करने वाले बैंक पर 30 पैसे का चार्ज लिया जाता था।
बढ़ा ई-वॉलेट का इस्तेमाल
नोटबंदी के बाद ‘कैशलेस दिनों’ में लोगों की सबसे ज्यादा मदद ई-वॉलेट मोबाइल ऐप्स कर रही हैं। फैसले के बाद पेटीएम, जियो मनी, मोबीक्विक, एयरटेल मनी, फ्री चार्ज, वोडाफोन एमपैसा जैसी ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल बढ़ा है। जब तक पैसों की किल्लत से छुटकारा नहीं मिलता तब तक इन्हें यूज करना लोगों की जरूरत और मजबूरी दोनों हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Share it
Top